उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने राज्य में बीजेपी की सरकार बनते ही अपराधियों और राज्य की कानून व्यवस्था का उल्लंघन करने वालों को सख्त संदेश दिए थे. लेकिन इसके उलट, राज्य में कानून के रखवाले ही गरीबों के साथ हिंसा करते नज़र आ रहे हैं.

शुक्रवार को एक रिक्शा चालक का वीडियो वायरल हुआ था. इस वीडियो में एक खाकी वर्दीधारी, गरीब रिक्शा चालक के साथ मार-पीट करते हुए देखा जा सकता है. सूत्रों के मुताबिक, विश्वजीत सिंह नाम के इस पुलिसवाले की रिक्शा चालक से मामूली बात पर बहस हो गई थी.

Source: newscrunch

दरअसल रिक्शाचालक पुलिस स्टेशन के पास से सवारी बैठा रहा था लेकिन विश्वजीत सिंह ने उन्हें ऐसा करने से मना किया. इसी बात पर रिक्शावाले और पुलिसवाले के बीच बहस हुई. जिसके बाद इस शख़्स को ज़बरदस्ती पुलिस स्टेशन लाकर उसके साथ मारपीट की गई.

वीडियो में साफ़ देखा जा सकता है कि मामूली-सी बात पर कैसे इस शख़्स को विश्वजीत ने बेइज्ज़त किया. न केवल उसे कॉलर से पकड़कर ज़बरदस्ती पुलिस स्टेशन ले जाया गया, बल्कि इस कमज़ोर और गरीब बूढ़े शख़्स के साथ मार-पीट भी की गई.

विश्वजीत सिंह गर्वनमेंट रेलवे पुलिस में कार्यरत है. वीडियो वायरल होने के बाद तुरंत कार्यवाई करते हुए विश्वजीत सिंह को सस्पेंड कर दिया गया.

Source: Indiatoday