दक्षिण दिल्ली के भीकाजी कामा इलाके का एक व्यस्त पुल. ये पुल दिल्ली के दो सबसे बड़े अस्पताल, AIIMS और सफ़दरजंग अस्पताल के रास्ते में पड़ता है. करीब 10 लाख छोटे बड़े वाहन यहां से हर रोज़ गुज़रते हैं. इस पुल के इर्द-गिर्द दिल्ली की व्यस्त बाज़ार भी है और इन सब के बीच इस पुल पर हैं दो बड़ी दरारें.

इन मोटी दरारों को PWD और DMRC दोनों नज़रअंदाज़ कर रहे हैं, शायद उन्हें किसी बड़े हादसे का इंतज़ार है.

पुल पर हर रोज़ काफ़ी दबाव पड़ रहा है, इसलिए ये बीच से दब भी चुका है और अब इसे लकड़ी के प्लैंक का सहारा दिया गया है.

PWD के मुताबिक पुल पर ये दरार मेट्रो की पिंक लाइन के बनने के कारण आई है. दिल्ली मेट्रो Subway बनाने के लिए 'Push Box' टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल कर रही है. जिस वजह से ये दरार आई है. अधिकारी का कहना है कि ये दरार सिर्फ़ बाहरी हैं. फ्लाईओवर की नींव अभी भी मज़बूत है.

DMRC ने NDTV को बताया कि-

ये पुल इस्तेमाल करने के लिए बिल्कुल ठीक है. इस फ्लाईओवर से रोज़मर्रा का ट्रैफ़िक आसानी से गुज़र सकता है. इसके अलावा इस दरार को जल्द ही ठीक कर दिया जाएगा.

फ़िलहाल अभी तक PWD या DMRC द्वारा कोई काम शुरू नहीं हुआ है और पुल अस्थायी सहारे और दोनों विभागों की बातों पर टिका है.