दक्षिण इथियोपिया का एक शहर Omorate, ये शहर आज अपनी अनोखी कला के लिए जाना जा रहा हे. इस शहर में एक ओमो नदी है, नदी के किनारे बसी Dassanech जनजाति कूड़े में पड़ी चीज़ों का इस्तेमाल कर के, अपनी पहचान बना रही है. ये लोग वैसे तो बीट वगैरा का इस्तेमाल कर के खूबसूरत आभूषण बनाते हैं और बेचते हैं, लेकिन बीते कुछ वक़्त से इन्होंने कूड़े में अपने काम की चीज़ खोजनी शुरू कर दी है.

ओमो नदी पर ​बने पुल के पास काफ़ी बार हैं. इन बार से रोज़ लाखों बोतलें निकलती हैं और उन्हीं के साथ लाखों ढक्कन भी. इन लोगों ने इन ढक्कनों से अपने सिर का ताज बना लिया. सिर्फ़ ये ही नहीं, कूड़े में मिली घड़ी, प्लास्टिक, कूपन, जानवर की खाल और भी बहुत चीज़ों को अपना आभूषण बना लिया. इन खूबसूरत तस्वीरों को कैद किया है मशहूर फ़ोटाग्राफ़र Eric Lafforgue ने. Eric के मुताबिक, ये लोग कूड़े से बनी चीज़ बेचते नहीं हैं, बल्कि उसे उन्होंने अपनी पहचान बनाने के लिए रखा है. सिर पर जितने ज़्यादा ढक्कन होंगे, उतने ज़्यादा कॉन्फ़िडेंस में रहते हैं ये लोग.

बोतल के ढक्कनों से बना हेयर बैंड

चीते की खाल से बनी ड्रेस और कोलोबस बंदर बन गया नेकलेस

पुरानी घड़ी, ढक्कन और चिड़िया के पर से बनाया ताज

इन लोगों के लिए चिकित्सा शिविर लगा था, जिससे इन्हें खूब सारी सीरिंज मिली. उसकी सुई हटा कर, ​इन्होंने अपने गले का नेकलेस बना लिया.

सीरिंज का ब्रेस्लेट

मोबाइल के रिचार्ज कूपन को कानों की बाली बना लिया

Fanta पीती आदिवासी महिला

कोल्ड ड्रिंक के कैन से सिर का बैंड बना लिया

Source- Ericlafforgue