शाहरुख खान की फ़िल्म का एक डायलॉग था, "किसी भी चीज़ को अगर दिल से चाहो, तो सारी कायनात उसे आप से मिलाने में लग जाती है." दिल्ली यूनिवर्सिटी के एक कॉलेज के स्टूडेंट्स ने इस डायलॉग को कुछ ज़्यादा ही गंभीरता से ले लिया है, तभी तो हर साल कॉलेज के सिंगल हताश छात्र के लिए गर्लफ्रेंड की चाह में पूजा-अर्चना करते आ रहे हैं.

आप Valentine's Day में विश्वास करें या न करें, लेकिन हिंदू कॉलेज की ये परंपरा कई सिंगल छात्रों के लिए उम्मीद की किरण जरूर बनी हुई है. सुनने में भले ही ये अजीब लगे, लेकिन दिल्ली यूनिवर्सिटी में सालों से इस रिवाज को धूम-धाम से मनाया जाता रहा है. हर साल यूनिवर्सिटी के कुछ छात्र मिलकर एक बॉलीवुड अभिनेत्री का चुनाव करते हैं और सभी सिंगल लड़कों की सहमति से इस एक्ट्रेस को दमदमी माई चुना जाता है.

Source: padmad

कॉलेज का ही एक फ्रे़शर इस पूजा में पंडित की भूमिका निभाता है और फिर सभी मिलकर पूजा भी करते हैं. परंपरा के मुताबिक, यहां मौजूद एक वर्जिन पेड़ को कॉन्डम से भी सजाया जाता है. 

सेकेंड इयर के स्टूडेंट वैभव सिंह ने बताया, इस साल हमने दिशा पटानी को दमदमी माई बनाने का फैसला किया है. दिशा के अलावा, नरगिस फाख़री के नाम की भी काफ़ी चर्चा थी, मगर चूंकि दिशा ज़्यादातर स्टूडेंट्स को पसंद हैं, इसलिए उनके नाम पर ही इस साल मुहर लगी.

Source: Times of India

पूरी श्रद्धा से इस पूजा और परंपरा को निभाने वाले इन छात्रों का मानना है कि जो भी स्टूडेंट इस पूजा में भाग लेता है उसे छह महीनों के अंदर एक गर्लफ्रेंड ज़रूर मिल जाती है और एक साल के अंदर ही उससे वर्जिन होने का टैग हट जाता है.

अब इन स्टूडेंट्स की श्रद्धा इन्हें गर्लफ्रेंड दिलाने में कामयाब हो न हो, लेकिन उम्मीद पर तो दुनिया कायम है ही.