नोएडा और दक्षिण दिल्ली के बीच मेट्रो से यात्रा करने वालों के लिए ख़ुशख़बरी है. जनकपुरी वेस्ट से नोएडा के बॉटेनिकल गार्डन के बीच बनाई गई नई मेट्रो लाइन के पहले सेक्शन (बॉटेनिकल गार्डन - कालकाजी मंदिर) का काम लगभग पूरा हो चुका है. इससे रोज़ नोएडा से दक्षिण दिल्ली आने जाने वाले लोगों को फ़ायदा मिलेगा क्योंकि इससे नोएडा सीधे दक्षिण दिल्ली से कनेक्ट हो जाएगी. नोएडा से लोग सीधे एयरपोर्ट तक भी पहुंच सकेंगे क्योंकि IGI एयरपोर्ट के डोमेस्टिक टर्मिनल 1-डी पर जो नया मेट्रो स्टेशन बनाया गया है, वो भी इसी लाइन पर स्थित है. रिपोर्ट्स के अनुसार, अगले दो-तीन दिनों में सभी औपचारिकताएं पूरी कर ली जाएंगी और नवंबर के अंत तक इस लाइन को खोल दिया जाएगा.

दिल्ली मेट्रो की यह आठवीं लाइन है, जिसे मजेंटा लाइन के नाम से जाना जाएगा. जनकपुरी वेस्ट से नई मेट्रो लाइन की कुल लंबाई 34.27 किमी है, जिसका 10.46 किमी लंबा हिस्सा एलिवेटेड है और 23.80 किमी हिस्सा अंडरग्राउंड है. इस लाइन पर 23 नए मेट्रो स्टेशन हैं, जिनमें से 8 एलिवेटेड और 15 अंडरग्राउंड स्टेशन हैं. 12.64 किलोमीटर लंबी बॉटेनिकल गार्डन-कालकाजी सेक्शन इसी लाइन का ही हिस्सा है.

बॉटेनिकल गार्डन - कालकाजी मंदिर सेक्शन के अंतर्गत 9 स्टेशन आते हैं. इस लाइन में कालकाजी मंदिर अंडरग्राउंड होगा वहीं बाकी सारे स्टेशन एलेवेटेड होंगे. इस लाइन के अंर्तगत दिल्ली के दो प्रमुख विश्वविद्यालय - जामिया मिलिया इस्लामिया और एमिटी यूनिवर्सिटी भी आसानी से पहुंचा जा सकेगा. इसके साथ ही कालकाजी और बॉटेनिकल गार्डन पर बनाए गए नए इंटरचेंज स्टेशन भी खुल जाएंगे, यानी अब ब्लूलाइन या वॉयलेट लाइन से लोग मेट्रो चेंज करके इस नई लाइन पर भी आ-जा सकेंगे.

इससे पहले तक मेट्रो के जितने भी नए सेक्शन खुले थे, वो सभी पहले से चल रही मेट्रो लाइनों के एक्सटेंशन ही थे. ऐसे में फ़ेज़-3 के तहत पूरी तरह से नई बनी लाइन का यह पहला सेक्शन है.

Source: IndiaToday

इस सेक्शन के खुलने के साथ ही नोएडा में रहने वाले लोग दक्षिण दिल्ली जाते समय कम से कम 45 मिनट का यात्रा समय बचा सकते हैं. ये दिल्ली मेट्रो का पहला कॉरिडोर होने जा रहा है जहां कम्युनिकेशन बेस्ड ट्रेन कंट्रोल सिग्नल टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल होगा. एक बार पूरा कॉरिडोर खुलने के साथ ही नोएडा से आने वाले यात्री हौज खास मेट्रो स्टेशन उतरकर गुड़गांव के लिए मेट्रो पकड़ सकेंगे. अभी लोगों को गुड़गांव जाने के लिए राजीव चौक मेट्रो स्टेशन से मेट्रो बदलनी पड़ती है. ज़ाहिर है, इससे राजीव चौक पर भी भीड़ का दबाव कम होगा.

इसके अलावा नोएडा से फ़रीदाबाद जाने वाले लोगों को भी राहत मिलेगी और उनका यात्रा समय भी थोड़ा कम होगा. नोएडा से फ़रीदाबाद जाने वाले यात्री कालकाजी मंदिर पर ट्रेन बदल सकते हैं. चूंकि बॉटेनिकल गार्डन और कालकाजी मंदिर इंटरचेंज स्टेशंस हैं, इससे ब्लू और वॉयलेट लाइन में लगने वाले यात्रा समय में भी काफी कमी देखने को मिलेगी.

Source: Hindustan Times

Feature Image Source: Delhimetrorail