डेरा सच्‍चा सौदा चीफ़ गुरमीत राम रहीम पर आए दिन अब एक से बढ़कर एक खुलासे हो रहे हैं. बाबा पर सिर्फ़ रेप और मर्डर ही नहीं, बल्कि 400 भक्तों की नसबंदी कराने का भी आरोप है. ये मामला भी कोर्ट में चल रहा है.

फ़तेहाबाद के टोहाना निवासी हंसराज चौहान ने 17 जुलाई, 2012 को हाईकोर्ट में याचिका दायर कर डेरा प्रमुख पर 400 साधुओं को नपुंसक बनाने का आरोप लगाया था. याचिका में कहा गया था कि डेरा अस्पताल में डॉक्टरों की टीम साधुओं को नपुंसक बनाती है. इसके पीछे उन्हें वजह बताई जाती थी कि वो लोग प्रभु के और करीब जा पाएंगे.

अब हंसराज चौहान इस पूरे मामले में खुल कर सामने आ रहे हैं. हंसराज ने अपने त्रासदी भरे अनुभव को बयां करते हुए बताया कि कैसे उन्‍हें पहले पेप्‍सी पिलाकर बेहोश किया गया और फिर उनके Testicles निकाल लिए गए. इस घटना के बाद से हंसराज का हॉर्मोन बैलेंस बिगड़ चुका है.

37 साल के हंसराज चौहान ने कहा कि वो मात्र 5 साल के थे जब उनके मां-बाप उन्‍हें राम रहीम के पास ले गए. उस वक्‍त राम रहीम ने उनसे पंजाबी भाषा में एक मंत्र का पाठ करने के लिए कहा था जिसका अर्थ होता है कि भगवान सत्य और निराकार है. मंत्र का पाठ करने के बाद गुरू ने उन्हें खाने के लिए मिठाई दी थी.

हंसराज के मुताबिक शुरु में उन्‍हें आश्रम में आने वाले लोगों को पानी पिलाने का काम दिया गया था. कुछ समय बाद सभा में गुरू के आगमन और प्रवचनों के बारे में घोषणा करने की ज़िम्मेदारी उन्‍हें दे दी गई.

हंसराज ने कहा, कुछ समय बाद वो गुरू के प्रवचनों के दौरान भजन गाना और संगीत बजाया करते थे. डेरा के अंदर और प्रवचनों में लोग उनके साथ-साथ महिला गायकों के गाने सुनना पसंद करने लगे थे. वो अक्सर अपने गांव से सिरसा आने-जाने लगे लेकिन 5 साल बाद उन्हें सिरसा आश्रम के छात्रावास में साधु की तरह रहने के निर्देश दिए गए. इसे हंसराज की बड़ी पदोन्नति माना गया, क्योंकि इसके लिए उन्‍होंने गुरमीत राम रहीम के निजी कक्ष में जाकर अनुरोध किया था.

अक्‍टूबर 2000 की एक रात उन्‍हे ऑपरेशन थिएटर ले जाया गया. वहां उन्‍हें एक गिलास में पेप्‍सी पीने को दी गई. पेप्‍सी पीते ही वो बेहोश हो गए. दो दिनों तक वे बेसुध और बेहोश पड़े रहे. जब उन्हें होश आया तो एहसास हुआ कि उनके दोनों Testicles ऑपरेशन करके निकाल लिए गए थे और उस हिस्‍से पर पट्टी बंधी हुई थी. अब हार्मोन असंतुलन की वजह से न तो उन्हें मूंछें उगती हैं और न ही छाती के बाल. उनके सिर पर मौजूद बाल भी एकदम कमज़ोर हो गए हैं. उस वक्‍त उनकी उम्र महज 19 साल थी. इस हादसे के बाद से वो सेक्सुशल संबंध बनाने में भी नाकाम रहे.

हंसराज ने बताया कि बाबा राम रहीम के और भी कई कुर्कम अभी सामने आने बाकी है. कोर्ट के इस फ़ैसले के बाद से पीडि़तों का मनोबल बढ़ा है. हंसराज ने बताया कि बाबा राम रहीम ने बहुत से लोगों के तलाक करवाएं है. उन्‍होंने कहा कि अभी बहुत से ऐसी महिलाएं और पीड़ित लोग हैं जिन्हें बाबा के अन्याय और प्रताड़ना का शिकार होना पड़ा है. जैसे जैसे बाबा पर शिकंजा कसेगा, उम्मीद है कई और पीड़ित देश के सामने आकर बाबा का कच्चा चिट्ठा खोलेंगे.

Source: The Quint