मैदान में अपनी कप्तानी और बल्लेबाज़ी से विरोधी टीम को धूल चटाने वाले महेन्द्र सिंह धोनी उन गिने-चुने लोगों में से एक हैं, जिनके जीवन पर पूरी एक फ़िल्म बन चुकी है. इस फ़िल्म ने उनके जीवन के कई ऐसे पहलुओं को बताया, जिसे धोनी शायद ख़ुद अपनी ज़बानी नहीं बता पाते.

धोनी जितने अच्छे बल्लेबाज़ और कप्तान हैं, उतने ही बेहतरीन इंसान भी हैं. हाल ही में इसका जीता-जागता उदाहरण भी देखने को मिला. धोनी को जब ये पता चला कि झारखंड टीम में उनके साथ खेले कुछ दोस्त वहीं जा रहे हैं, जहां धोनी को जाना है, तो उन्होंने अपनी कार से किनारा करके दोस्तों के साथ सफ़र करने के लिए ट्रेन में जा बैठे.

Source: Instagram

इस तस्वीर को शेयर करने के साथ ही धोनी ने लिखा कि '13 सालों बाद एक बार फिर दोस्तों के साथ ट्रेन में सफ़र करने का मौका है. उम्मीद है इस लंबी यात्रा में फिर से बहुत मौज-मस्ती होगी.'

धोनी अपनी टीम के साथ कोलकाता में कर्नाटक के ख़िलाफ़ एक मैच खेलने के लिए जा रहे थे.

आपको याद ही होगा कि एक समय धोनी खुद रेलवे में टिकेट चेकर थे.

Source: sw