राइज़िंग पुणे सुपरजायंट के विकेटकीपर-बैट्समैन, एम. एस. धोनी अब 'कैलाशपति' हो चुके हैं. बुधवार को आईपीएल के मुकाबले में कोलकाता को हराने के अलावा भी धोनी के पास जश्न मनाने का मौका था. एम. एस. धोनी अब रांची में एक बड़े और बेहतर घर में शिफ़्ट होने जा रहे हैं.

धोनी रांची के दोरांदा क्षेत्र में रहते थे. मेकोन कॉलोनी के एक छोटे से कमरे में एम.एस की परवरिश हुई है. उनके पिता पान सिंह धोनी मेकॉन में काम करते थे और इसलिए कंपनी से उन्‍हें क्‍वार्टर मिला हुआ था. इसके बाद वे यहां से हरमू रोड शिफ़्ट हो गए थे. हरमू रोड पर स्थित इस घर से वे अब रिंग रोड स्थित सिमलिया फ़ार्म हाउस में शिफ़्ट हो चुके हैं.

Source: Jharkhandstatenews

धोनी ने 2016 में अपने जन्मदिन के दिन एक तस्वीर पोस्ट कर बताया था कि वे एक नया घर लेने जा रहे हैं. धोनी की गैरमौजूदगी में उनके दोस्‍तों ने घर को शिफ्ट कराने की ज़िम्‍मेदारी ली. हालांकि इस बात को काफी गोपनीय रखा गया था.

इस फ़ार्महाउस का नाम कैलाशपति है. धोनी यहां अपनी पत्नी साक्षी, बेटी जीवा और अपने माता-पिता के साथ हाल ही में शिफ़्ट हुए हैं. 28 अप्रैल को अक्षय तृतीया के शुभ अवसर पर धोनी ने परिवार समेत इस घर में शिफ़्ट होने का फ़ैसला किया था.

रांची रिंग रोड पर मौजूद कैलाशपति 7 एकड़ में फ़ैला हुआ है. इस नए बंगले में एक इंडोर स्टेडियम, एक स्वीमिंग पूल, नेट प्रैक्टिस के लिए एक मैदान और एक अल्ट्रा मॉर्डन जिम भी है. यहां के कंपाउड में फ़ाइव स्टार होटल भी होगा.

Source: Sports.ndtv

इस घर में शिफ़्ट होने से पहले तक धोनी परिवार समेत एक थ्री स्टोरी बंगले में रह रहे थे. पुराने घर में धोनी साल 2009 से रह रहे थे. आईपीएल के मैचों में फ़िलहाल व्यस्त होने के कारण वे अपने नए घर की पार्टी में शामिल नहीं हो पाए हैं, लेकिन चैंपियंस ट्रॉफ़ी के बाद उन्हें काफ़ी फ़्री टाइम मिल सकता है.

Source: Hindustan Khabar धोनी का पुराना घर.

गौरतलब है कि धोनी बाइक के भी शौकीन हैं. उनके पास हार्ले डेविडसन जैसी बाइक्‍स और हमर जैसी गा़ड़ियां भी हैं. वे कई बार रांची की सड़कों पर बुलेट चलाते हुए भी नज़र आ चुके हैं. 2016 में न्‍यूज़ीलैंड के खिलाफ वनडे सीरीज के दौरान रांची वनडे में वे हमर चला कर एयरपोर्ट गए थे.

Source: Mid-day