कहते हैं खूबसूरती देखने वाले की आंखों में होती है और पेरिस से ताल्लुकात रखने वाली फ़ोटोग्राफ़र संज्योत तेलांग इसे अपने काम से साबित भी कर रही हैं. उन्होंने हाल ही में मुंबई के एक एनजीओ किमकन के साथ एक फ़ोटोशूट किया है, जिसमें वे डाउन सिंड्रोम से ग्रस्त महिलाओं को खूबसूरती से पर्दे पर उतारने में सफल रही हैं.

 

गौरतलब है कि डाउन सिंड्रोम एक आनुवांशिक विसंगति है, जो बच्चे के सामान्य शारीरिक विकास को प्रभावित करती है, जिस कारण उनको रोज़मर्रा की चीजों को सीखने में काफी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है।

 

इस प्रोजेक्ट का नाम फैशन मिसफिट्स रखा गया है और इस प्रोजेक्ट के माध्यम से उन लड़कियों की पहचान को अभिव्यक्त करने की कोशिश की गई है, जिन्हें आमतौर पर समाज के हिसाब से खूबसूरत नहीं समझा जाता है.

 

उन्होंने कहा, "मुझे लगता है कि हमारे समाज में जिन लोगों को हमारी सबसे ज्यादा देख-रेख की ज़रूरत है, उन्हीं लोगों को हमने सबसे ज्यादा दरकिनार किया हुआ है."

 

संज्योत ने कहा कि हमारे समाज में खूबसूरती के काफ़ी सीमित मायने हैं, लेकिन अब समय आ गया है कि इन सीमित मायनों की जकड़न से दूर, समाज में मौजूद हर तरह की खूबसूरती को तराशा जाए और उनके साथ अलग और दिलचस्प प्रयोग किए जाएं.

 इस प्रोजेक्ट के माध्यम से तैलांग फैशन और एड इंड्रस्टी में इन लड़कियों के लिए एक अलग जगह बनाना चाहती हैं, ताकि ये लोग भी अपने आपको फैशनेबल तरीके से एक्सप्रेस कर सकें और समाज के लिए एक रोल मॉडल बन सकें।

 

तेलांग ने कहा कि इन लड़कियों के साथ काम करने में काफ़ी मज़ा आया और उन्होंने एक प्रोफेशनल मॉडल की तरह ही एकदम स्वाभाविक और बेपरवाही के साथ पोज़ दिए.