उत्तर प्रदेश के पीलीभीत ज़िले से एक रोंगटे खड़े कर देने वाली घटना सामने आई है. पीलीभीत के अमरिया क्षेत्र में एक नशेड़ी ने सात साल के मासूम की न केवल हत्या की, बल्कि एक नरभक्षी की तरह उसके मांस को भी खा गया. मियां नज़ीम नाम का ये आदमखोर 20-25 साल के आस-पास बताया जा रहा है. इस घटना से क्षेत्र के लोगों में भारी रोष है.

मंगलवार की दोपहर, मोहम्मद मोनीस अपने घर के बाहर दूसरे बच्चों के साथ खेल रहा था. मियां नज़ीम ने पास ही में मौजूद एक घर में उसे बहला-फुसलाकर बुलाया और घर में उसकी हत्या कर दी. मियां ने इसके बाद उसके गले और बाकी अंगों को काट दिया और मासूम के मांस के चीरफाड़ करते हुए उसे खाने लगा. इस भयानक नजारे को मियां की मां ने जब देखा तो वह भी बेहद घबरा गई.

पड़ोसियों ने पुलिस को इसकी सूचना दी. पुलिस जब वहां पहुंची तो नज़ारा बेहद भयानक था. बच्चे का मृत शरीर ज़मीन पर पड़ा था और उसका सिर भी बेधड़ किया गया था. शरीर के कई हिस्सों से त्वचा को उतारा गया था और कई अंदरूनी हिस्से यहां-वहां पड़े हुए थे. नज़ारा ऐसा था मानो किसी नरभक्षी ने अभी-अभी अपना शिकार खत्म किया हो.

नजीम मृत शरीर के पास ही बेसुध बैठा हुआ था. पुलिस ने जब उसे गिरफ्तार किया तो उसने किसी तरह का विरोध भी नहीं किया.स्थानीय लोगों को जब इस मामले की खबर हुई, तो वे गुस्से से भर उठे. सीनियर पुलिस अधिकारियों की मौजूदगी में ही नजीम से मारपीट की कोशिश की गई. पुलिस ने बीच-बचाव कर मियां नजीम को बचाने की कोशिश की. इन लोगों की मांग थी कि इस शख़्स को इसके अपराध के लिए मौत की सज़ा दी जाए.

गौरतलब है कि इससे पहले यूपी के निठारी कांड में भी ऐसे ही नरभक्षीपने ने लोगों को हैरत में डाल दिया था. अपराध इतना जघन्य है कि पुलिस इस मामले की भी जांच करेगी कि ये शख़्स सामान्य है या मनोरोगी? क्षेत्र के एसपी के मुताबिक, इस मामले में जांच पूरी हो रही है और कोर्ट में आखिरी चार्जशीट जमा करा दी जाएगी.

मोनिस के पिता की शिकायत पर पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है. बुधवार को पीलीभीत कोर्ट में मियां को पेश किया गया. उससे जब इस बारे में पूछताछ की गई तो उसके जवाब बेहद अनमने और असंतोषजनक थे. मियां को इसके बाद कस्टडी में भेज दिया गया है.

Source: Metro