चुनावों का मौसम शुरू होते ही न्यूज़ चैनलों पर चुनावी बहस के साथ ही ओपिनियन पोल की बरसात-सी शुरू हो जाती है. हर चैनल अपने-अपने आंकड़े दिखा कर ये अनुमान लगाने की कोशिश करता है कि किस पार्टी को कहां से, कितनी सीटें मिलने जा रही है.

Source: Reuters

हालांकि चैनलों के इन ओपिनियन पोल पर चुनाव आयोग पहले ही अपनी नाराज़गी जता चुका है. इसके बावजूद, कुछ न्यूज़ चैनल नियम और कानून को ताक पर रख कर चुनाव आयोग के दिशा-निर्देश की धज्जियां उड़ा रहे हैं.

दिल्ली में हुए MCD चुनावों के दौरान भी कुछ न्यूज़ चैनलों ने ऐसे ही कार्यक्रम को चलाये, जिनमें किसी पार्टी की जीत का अनुमान लगा कर ओपिनियन पोल दिखाए गए. इस बार ऐसे न्यूज़ चैनलों ने ख़िलाफ़ चुनाव आयोग ने कड़ा रुख़ अपनाते हुए उन्हें नोटिस जारी किया है. इस बाबत ABP न्यूज़ और Times Now को नोटिस भेज कर चुनाव आयोग ने निर्देश न मानने को ले कर सवाल किया है.

Source: guruprsad

चुनाव आयोग ने ये कदम कांग्रेस की शिकायत के बाद उठाया है. कांग्रेस ने अपनी शिकायत में कहा है कि Times Now और ABP न्यूज़ ने चुनाव से 48 घंटे पहले ओपिनियन पोल दिखा कर वोटरों को भटकाने की कोशिश की है, जिसका असर चुनावों पर पड़ने की संभावना है.

कांग्रेस नेता शर्मिष्ठा मुख़र्जी और अमन पंवार का कहना है कि 'चैनलों की इस हरकत से निष्पक्ष और साफ़ चुनाव होने में दिक्क्त पेश आएगी, जो हमारे लोकतंत्र की बुनियाद है.'

Source: scoopwhoop