हमारे देश में चाय लवर्स की गिनती करनी मुश्किल है. यहां चाय पे चर्चा, प्यार, दोस्ती न जाने क्या-क्या होता है. अगर आप भी चाय लवर हैं, तो आप इसे बखू़बी समझते भी होंगे. चाय और कॉफ़ी में कौन बेहतर है, इसकी बहस भी अकसर सुनने को मिलती रहती है.

इसी सिलसिले में आज हम आपके लिए चाय Vs कॉफ़ी पर एक कविता खोज कर लाए हैं. इसे सुन कर हर चाय लवर को चाय पीने का एक और बहाना मिल जाएगा. वहीं कॉफ़ी पीने वाले भी चाय के मुरीद हो जाएंगे.

ये कविता हुसैन हैदरी ने लिखी है. इस ख़ूबसूरत-सी कविता में हुसैन ने चाय के लिए हर तरह से अपना इश्क़ ज़ाहिर किया है:

चाय-कॉफ़ी कोई भी मुझे पूछे मैं नहीं झिझकता हूं

मैं साफ़-साफ़ कह देता हूं मैं चाय का शौक़ रखता हूं

कश्मीर से कन्याकुमारी तक कॉफ़ी के कम ही चहीते हैं

दुनिया चाहे जो पी ले हिंदुस्तान में चाय ही पीते हैं

माना कॉफ़ी पीने वाले जो लोग हैं सोफ़ेस्टीकेटेड हैं

लेकिन एक प्याले का 200 रुपया देकर Frustrated हैं

पूरी कविता सुनें यहां...

Source: Kommune India