कुछ दिनों पहले सोशल मीडिया पर वायरल हुआ शादी का वो कार्ड, तो आपको याद ही होगा, जिसमें 'स्वच्छ भारत अभियान' का Logo लगा हुआ था. इस कार्ड को देख कर खुद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इसे रीट्वीट किया था. इसी तरह का कार्ड राजस्थान के एक शख़्स ने अपने अपने बेटे की शादी में भी छपवाया था, जिसका संदेश था कि बाल-विवाह अपराध है और इसे रोकने के लिए आप भी इस मुहीम में भागीदार बनिए.

शादी के कार्ड के ज़रिये समाज को जागरूक करने की मुहीम में उत्तर प्रदेश का एक किसान भी शामिल हो गया है, जिसने अपने बेटे की शादी के कार्ड पर “शराब पी कर आना सख़्त मना है' का संदेश लिखवाया है.

सीतापुर के बलियापुर गांव के रहने वाले कैलाश प्रसाद का मानना है कि शराब एक सामाजिक बुराई है और वो नहीं चाहते थे कि उनके बेटे की शादी में कुछ भी बुरा घटित हो.

Source: topyaps