"ज़िंदगी छोटी है और बहुत हसीं भी... इसमें बहुत से उतार-चढ़ाव आएंगे, परेशानियां आएंगी… उनसे डरना मत... आगे बढ़ते रहना और मरने की तो कभी सोचना भी मत."

ये शब्द हैं उस औरत के जिसने 15 साल की उम्र में गरीबी देखी, शारीरिक-मानसिक Torture सहा, जिसको रिश्तों ने हर कदम पर धोखा दिया… जब उसने दुनिया से मदद मांगने की सोची, तो समाज उसे नोचने के लिए तैयार बैठा था. लेकिन वो लड़ी, इन सब से वो मर्दानी ऐसे लड़ी कि दुनिया अपने मुंह में हाथ लगाए रह गयी.

ये है बॉलीवुड की स्टंट वुमन गीता टंडन.

Source: India Times

गीता की कहानी सुन कर मैरी कॉम में प्रियंका का वो डायलॉग याद आ गया, "किसी को इतना भी मत डराओ, कि डर ही ख़त्म हो जाए". इस वक़्त बॉलीवुड की लीडिंग लेडीज़ के लिए स्टंट करने वाली गीता टंडन को शायद आप पहचान न पाएं, लेकिन इनकी कहानी जानने के बाद आप शायद ही इन्हें भूल पाएंगे.

दो बच्चों को अकेले पाल रही गीता टंडन हर उस लड़की (इंसान) के लिए Inspiration है, जिसे लगता है कि अपने अस्तित्व की लड़ाई में वो अकेली है. इस औरत ने अकेले, गरीबी झेलते हुए खुद को एक ऐसी ज़िंदगी दी, जो शायद किसी मूवी की दमदार कहानी को पछाड़ दे.

उनके स्ट्रगल पर Blush ने स्टोरी की और ये हैं उनके संघर्ष की कहानी के कुछ अंश...

ये है वो विडियो जिसमें गीता ने अपनी आपबीती को Blush की टीम से साझा किया. ये वीडियो इतना खूबसूरत है कि मेरे शब्द नाकाफ़ी होंगे इस बारे में कुछ भी बोलने के लिए.

(ऐसा मैं इसलिए कह रही हूं, क्योंकि इतनी परेशानियों के बाद भी गीता के अन्दर जिंदादिली की एक बूंद कम नहीं हुई है).

इसे देखिएगा ज़रूर:

Source: Blush

इतनी मुश्किलों से गुजरने के बाद गीता कहती हैं कि, "हर वो लड़की जो इस वक़्त परेशानियों से जूझ रही है और अपनी लड़ाई में अकेली है, उसे ये ही कहना चाहती हूं कि तुम अपना संघर्ष कभी मत छोड़ना. अपनी आखरी सांस तक लड़ना. ज़िंदगी बहुत खूबसूरत है, ये तुम्हें तब ही पता चलेगा जब तुम अपनी परेशानियों से बाहर आओगी. बस थोड़ा सा सब्र रखो, सब अच्छा होगा."

अपने बच्चों को गीता आगे बढ़ते हुए देखना चाहती है. हम गीता को ऐसे ही जज़्बे के साथ ज़िन्दगी जीते हुए देखना चाहते हैं. गीता, तुम जैसे कम ही होते हैं, लेकिन तुम अकेली हज़ारों को प्रेरणा दे सकती हो.

Gazab Artwork by: Nishant Patel