हर साल देश की सुरक्षा व्यवस्था को दुरुस्त करने के लिए करोड़ों-अरबों के हथियार ख़रीदे जाते हैं, जिनमें मिसाइल से ले कर जेट, रॉकेट और मिसाइल लॉन्चर वगैरह शामिल रहते हैं.

Source: india

इस साल सरकार इसी कड़ी में सैनिकों के सम्मान के लिए मेडल खरीदने का भी मन बना रही है. टाइम्स ऑफ़ इंडिया की ख़बर के मुताबिक, सैनिकों को सम्मान देने के लिए सरकार 28 करोड़ रुपये की लागत से 7.60 लाख मेडल खरीदने वाली है.

ख़बर के मुताबिक, मेडल्स की कमी के चलते पिछले साल भी सिपाही को नकली मेडल खरीदकर अपनी वर्दी पर लगाने को मजबूर थे.

Source: warreus

किसी भी सिपाही के लिए मेडल की ख़्वाहिश इसी बात से समझी जा सकती है कि 'नाम, नमक और निशान.'

पिछले साल 31 दिसम्बर को भी 16.82 लाख सर्विस मेडल की कमी की वजह से आर्मी, नेवी और एयरफ़ोर्स के जवान मेडल जीतने के बावजूद, दुकानों से नकली मेडल खरीदने को मजबूर थे.

Source: toi

Feature Image Source: ssbcrack