मौसम विभाग ने इस साल अच्छी बारिश होने का अनुमान लगाया है. मगर लगता है गुजरात सरकार को अपने मौसम विभाग पर रत्ती भर का भी विश्वास नहीं है. तभी तो वो वहां पर आने वाली 31 मई को इंद्र देवता को प्रसन्न करने के लिए 33 जिलों में यज्ञ करने जा रही है.

जी हां, गुजरात सरकार सूखे की मार से बचने के लिए अब इंद्र देवता को प्रसन्न करने की जुगत में लग गई है. इसके लिए बाकायदा 33 जिले के कलेक्टरों को नोटिस भी जारी कर दिया गया है. ख़बर है कि गुजरात सरकार अच्छे मॉनसून के लिए वरुण और इंद्र देव का आशीर्वाद पाने के लिए 41 पर्जन्य यज्ञ कराने जा रही है.

Source: b'Source: templepurohit'
इस बारे में बात करते हुए गुजरात के उप-मुख्यमंत्री नितिन पटेल ने कहा- हाल ही में हुई प्रदेश सरकार की कैबिनेट बैठक में अच्छे मॉनसून के लिए पर्जन्य यज्ञ कराने का फै़सला किया गया है. इसमें मैं,सीएम विजय रूपाणी और प्रदेश के कुछ वरिष्ठ अधिकारी शामिल होंगे. यज्ञ के हो जाने के बाद इसका प्रसाद जनता में बांटा जाएगा. इसके बाद एक जनसभा भी होगी.
Source: indiatimes

इस यज्ञ के लिए ख़ासतौर से कलश यूपी के मुरादाबाद से मंगाए जाएंगे. इन्हें पूरे प्रदेश की जनता में बांटा जाएगा, ताकि अधिक से अधिक लोग इसमें शामिल हो सकें. वैसे अच्छी बारिश के लिए भारत में इस तरह के यज्ञ और पूजा का सहारा लेना कोई नया नहीं है. इससे पहले भी ऐसा होता रहा है.

Source: templepurohit

मगर शायद ये पहली बार होगा की एक प्रदेश सरकार इस तरह के यज्ञ को सरकारी ख़र्च पर करवाने जा रही है. हालांकि गुजरात सरकार की ये पहल कामयाब होगी की नहीं, ये तो नहीं कहा जा सकता, लेकिन यहां ये सवाल उठना लाज़मी है कि इसका कोई और हल नहीं निकाला जा सकता था?

क्या गुजरात सरकार, महाराष्ट्र और कर्नाटक जैसे राज्यों की तरह सूखे से बचने के लिए क्लाउड सीडिंग टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल नहीं कर सकती थी? 

Feature Image Source: Indiatimes