आमतौर पर जीवन में बढ़ती टेंशन और काम के कारण हरेक शख़्स परेशान सा चलता रहता है. इसी परेशानी के चलते बीमारियां घर कर लेती हैं. इनसे बचने के लिए हालांकि बहुतेरे उपाय हैं, लेकिन कुछ ऐसी अजीबोगरीब थैरपी भी हैं, जो आपको बीमार होने से बचा सकती हैं. लेकिन उनके बारे में जानने से पहले ही एक अजीब तरह का डर सा लगने लगाता है. आज उन्हीं थैरपीज़ की बात होने जा रही है.

1. Urine Theraphy

ये थैरपी हांगकॉग में की जाती है. Hyperthyroidism नाम की बीमारी से बचने के लिए इस थैरपी को इजाद किया गया. इस थैरपी के तहत लोग एक-दूसरे का पेशाब पीकर बीमारी का इलाज करते हैं. यहां माना जाता है कि एक-दूसरे के पेशाब को पीने से कई तरह की बीमारियों का इलाज संभव है. इसके अलावा चीन के ही कुछ इलाकों में इसे बच्चों के फेसवॉश के तौर पर भी इस्तेमाल किया जाता है.

Source: Shanghaiist

2. Ant Eating Theraphy

साल 2001 में, इस तरह की थैरपी सामने आई. इसमें Ant यानी चींटी खाई जाती है. कहा जाता है कि शरीर में प्रोटीन की कमी की पूर्ति करने के लिए ये थैरपी बहुत ही सहायक होती है.

Source: Shanghaiist

3. Fire Therapy

इस थैरपी के तहत एक तौलिए से उस हिस्से को लपेटा जाता है, जहां दर्द होता है. तौलिए के ऊपर एक लोशन लगाकर उसे आग लगा दी जाती है. नीचे निकलती भाप और ताप से शरीर के उस हिस्से में खासा फायदा पहुंचता है.

Source: Shanghaiist

4. Sand Therapy

अब धीरे-धीरे ये थैरपी विश्वभर में प्रसिद्ध होती जा रही है. इसके तहत शख़्स को रेत के नीचे तब तक लिटाया जाता है, जब तक उसे पसीना नहीं आता. इससे मानसिक तनाव दूर होता है. हालांकि समंदरी इलाकों के किनारे लोग ये करते आपको दिख जायेंगे.

Source: Shangaiist

5. Leech Therapy (जोंक थैरपी)

इस थैरपी से इंफेक्टेड ब्लड को निकला जाता है. जोंक उस हिस्से का सारा गंदा लहू पी जाती हैं, जहां उन्हें चिपकाया जाता है. आज ये थैरपी अमूमन हर बड़े शहर में उपलब्ध है.

Source: Youtube

6. Beer Therapy

जर्मन, चेक गणराज्य और ऑस्ट्रिया के कुछेक शहरों में इस तरह के स्पा हैं. इससे Allergic Reactions दूर होते हैं. इसमें पूरा का पूरा टब बीयर से भरा होता है. आप उसमें नहा भी सकते हैं और सो भी सकते हैं और हां पी भी सकते हैं.

Source: Piv

7. Ear Candling Therapy

इस थैरपी को 'Thermal Auricular Therapy' भी कहा जाता है. इसमें कान के छेद पर मोमबती रख दी जाती है. और कान में हीट दी जाती है. हालांकि एक तर्क ये भी सामने आता है कि इससे कोई फायदा नहीं होता. इसी कारण कई बड़ी-बड़ी स्वास्थ्य संबंधी संस्थाएं इसे नकारती हैं.

Source: Lesalonday

8. Plant Therapy

जुलाई 2008 में, जब बीजिंग में ओलंपिक गेम्स खेले जा रहे थे, तभी एक आर्टिस्ट ने दो महिलाओं के शरीर पर फूलों और घास के Essence से कलाकारी की. उसने बाद में ये दावा भी किया था कि पौधों और फूलों के रस से त्वचा को एक विशेष तरह का निखार मिलता है.

Source: Shanghaiist

इसके अलावा आपको कौन-कौन सी अजीबोगरीब थैरपीज़ के बारे में पता है. हमें कमेंट करके बताएं.