देश की सुंदरता को दर्शाते Incredible India नाम के एक विज्ञापन को आपने ज़रूर देखा होगा. इसमें भारत की प्राकृतिक और सांस्कृतिक झलक देखने को मिली थी. लेकिन इसे अधूरा ही कहेगें क्योंकि इसमें असली भारत की तस्वीरें नहीं थीं. असली भारत के दर्शन करने के लिए आपको देश की छोटी-बड़ी, ऊंची नीची, चौड़ी-भीड़ी गलियों का रुख़ करना होगा. यहीं वो भारत बसता है, जिसकी बात ही निराली है. कुछ मंझे हुए फ़ोटोग्राफ़र्स ने देश की इस सुंदर छवि को अपने कैमरे में कैद किया. चलिए एक नज़र भारत की कुछ ऐसी ही स्ट्रीट फ़ोटोज़ पर भी डाल लेते हैं.

उदयपुर की गलियों में खेलती बच्ची.


बेंगलुरू में दोपहर बाद एक गली नज़ारा.

पुष्कर में बैठे दो पगड़ी पहने आदमी.

यमुना में ताजमहल की छवि और एक साइकिल चलाते बच्चे की ये तस्वीर.

मुंबई की गली में अपने पिता की राह देखता छोटा सा बच्चा.

ऊंट गाड़ी के साथ मालिक और उसका ऊंट.

अपने खाली बर्तन को निहारती एक महिला.

रेगिस्तान में पानी की तलाश में जाती युवतियां.

लज़ीज स्ट्रीट फ़ूड की एक दूकान.

मदुरै में अपने इष्ट देवता को पूजती एक महिला.

देर शाम अपनी घर की ओर बढ़ता एक बुज़ुर्ग.

अयोध्या में सरयू किनारे पूजा करती एक महिला.

गली-गली घूमकर आईसक्रीम बेचता एक शख़्स.

सुनसान गलियों में अकसर ऐसा होता है.

कोल्हापुर में कसरत करते पहलवान.

कोलकाता के Hogg मार्केट की चहल-पहल.

दिल्ली के जंतर-मंतर की लाल सीढ़ियां.

अपने ठेले पर अख़बार पढ़ता एक बुज़ुर्ग.

सड़क किनारे बाल बनाता एक नाई.

बनारस की गलियां.

मुंबई के दादर की फूल वाली गली का एक दृश्य.

घर के बाहर लिखा- ओरछा परिवार आपका स्वागत करता है.

हेलमेट पहनती एक बुज़ुर्ग महिला.

घर के बाहर बैठा एक परिवार.

सांप का खेल दिखाता एक सपेरा.

कोलकाता में बारिश से बचते कुछ लोग.

बनारस की गली में एक छोटी सी दुकान.

सुबह-सुबह पूजा करती एक महिला.

गलियों में खेलते बच्चे.

उड़िसा में एक आदिवासी का घर.

तीन बुज़ुर्ग दोस्त.

ऑटो में स्कूल जाते बच्चे.

मदुरै की स्ट्रीट लाइफ़.

मिट्टी के बर्तन बनाती एक महिला.

पानी में खेलते बच्चे.

नई दिल्ली की गलियों में मुंगफली बेचता एक शख़्स.

पांडिचेरी के गलियों में चलता एक रिक्शा.

हैदराबाद में एक साइकिल पर सैर करते दो दोस्त.

चेन्नई के एक बाजार की भीड़.

क्यों है न ये भारत की असली तस्वीर?

Source: 121clicks