बीते शनिवार, पीएम नरेंद्र मोदी ने इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक (IPPB) स्कीम लॉन्च की. इसके तहत पोस्टमैन आपको घर पर ही बैंकिंग सेवाएं उपलब्ध कराएंगे. ये अपनी तरह का पहला ‘चलता-फिरता’ बैंक होगा. IPPB फ़िलहाल 650 डाकघरों और 3,250 एक्सेस प्वाइंट्स पर चालू और बचत खाते की सेवा मुहैया कराएगा. इस नई सर्विस से संबंधित कई सवाल हैं, जिनके जवाब हम आपके लिए लेकर आए हैं.

कैसे खुलेगा खाता

इस बैंक में आप अपना खाता आधार कार्ड के ज़रिये चंद मिनटों में खोल सकते हैं. इसके साथ ही बैंक आपको एक क्विक रेस्पांस कोड (QR कोड) जारी करेगा. इसकी मदद से लेन-देन किया जा सकता है यानि कि ग्राहक को अपना खाता नंबर और पासवर्ड भी याद रखने की ज़रूरत नहीं होगी. पोस्ट ऑफ़िस सेविंग्स बैंक के खाता धारक IPPB की सेवाओं का लाभ अपने खातों को लिंक कर उठा सकते हैं.

घर पर ही मिलेंगी ये सर्विस

Source: bfsi.eletsonline

डाक विभाग का पेमेंट्स बैंक पूरे देश में फैले डाकघरों के नेटवर्क के ज़रिये काम करेगा. इसके तहत बचत खाता चालू खाता, मनी ट्रांसफर तथा प्रत्यक्ष लाभांतरण के अलावा बिल, यूटिलिटी एवं व्यापारिक भुगतान जैसी अनेक सेवाएं प्राप्त होंगी. इसके लिए डाकियों को एक पीओएस मशीन दी जाएगी. उसी के माध्यम से ये सभी सेवाएं ग्राहक को उपलब्ध कराई जाएंगी.

हालांकि, IPPB न तो लोन देगा और न ही किसी तरह का कोई क्रेडिट कार्ड जारी करेगा. इसके अलावा बैंकिंग की सभी सर्विस यहां कस्टमर को दी जाएंगी. इसमें 3 लाख डाकिये और ग्रामीण डाक सेवक शामिल होंगे.

ई-कॉमर्स साइट्स से ख़रीदे गए सामान भी पहुंचाएंगे डाकिए

Source: Bankers Adda

इस स्कीम के तहत देशभर में डाकिए Amazon, Flipkart जैसी ई-कॉमर्स वेबसाइट्स से ख़रीदे गए सामान को भी डिलीवर करेंगे. इसके लिए इनसे करार किया गया यानि कि अब इनकी सर्विस ग्रामीण क्षेत्र में मिलनी शुरू हो जाएगी.

पैसे जमा करने की सीमा

Source: indiatimes

इसमें अधिकतम 1 लाख रुपये जमा किए जा सकते हैं. इससे अधिक रुपये जमा होने पर ये अपने आप डाकघर बचत बैंक खाते में चली जाएगी. इसमें सभी बैंकों की तरह 4 फ़ीसदी का ब्याज भी मिलेगा.

Source: Indianexpress