भारत में आज भी समलैंगिक संबंधों को गैर कानूनी माना जाता है. यहां आज भी ज़्यादातर शादियां जाति और धर्म के इर्द-गिर्द घूमती हैं और 'सेक्स' शब्द सुन कर लोग आज भी झेंप जाते हैं.

लेकिन इसमें कोई दो राय नहीं कि भारत का एक बड़ा वर्ग प्रोग्रेसिव भी है और हर तरह के लोगों का स्वागत करता आया है. शायद यही कारण है कि LGBTQ एक्टिविस्ट हरीश अय्यर एक ऐसा शो लेकर आए हैं जो हाशिये पर मौजूद LGBTQ समुदाय के मुद्दों पर आधारित होगा.

हरीश अय्यर

भारत के पहले LGBTQ रेडियो शो Gaydio को हरीश, 104.8 एफ़एम इश्क पर होस्ट करते हैं. उनका ये शो समलैंगिक लोगों की मुश्किलों और उनकी ज़िंदगी के मीठे-कड़वे अनुभवों पर आधारित है. Gaydio अपनी तरह का पहला ऐसा रेडियो शो है जो देश में मौजूद ट्रांसजेंडर्स, गे, लेस्बियन जैसे तमाम तरह की सेक्शुएलिटी वाले लोगों को एक स्पेस प्रदान कर रहा है और इस शो पर LGBTQ से जुड़े मुद्दों को एक प्लेटफ़ॉर्म प्रदान किया जा रहा है.

हरीश अय्यर का कहना है कि 'चूंकि रेडियो एक आवाज़ निर्धारित और बेहद पर्सनल मीडियम है, ऐसे में मुझे उम्मीद है कि इन प्रयासों से लोग जेंडर और सेक्शुएलिटी को लेकर बेहतर समझ बना पाएंगे. शो के द्वारा ये संदेश देने की भी कोशिश की जाएगी कि प्यार करने के लिए लोगों को किसी तमगे की ज़रूरत नहीं है. शो का मकसद देश के इस समुदाय को एक सुरक्षित वातावरण मुहैया कराना है जहां वे कंफ़र्टेबल होकर अपनी कहानी को अपनी ही ज़ुबानी बयां कर सकें.'

इससे पहले 2013 में भी Q नाम के रेडियो स्टेशन की शुरुआत हुई थी. ये स्टेशन बेंग्लोर से ऑपरेट होता था. ये स्टेशन भी पूरी तरह से LGBTQ समुदाय के लिए समर्पित था. इसका एक ऑनलाइन प्लेटफॉर्म और मोबाइल एप भी था. लेकिन 2015 के बाद से इस स्टेशन के बारे में कोई जानकारी उपलब्ध नहीं है.

गौरतलब है कि अय्यर बचपन में यौन उत्पीड़न के शिकार हुए थे. उन्होंने 2009 में एक मैगज़ीन को दिए इंटरव्यू में अपने रेप की खबर के बारे में बताया था. 7 साल की उम्र में हरीश के अंकल ने उनके साथ पहली बार यौन संबंध बनाए थे. 18 साल की उम्र तक हरीश का कई बार रेप होता रहा था.

उन्होंने कहा कि 'लोग भारत में सेक्स को लेकर बात नहीं कर पाते हैं. ऐसी चीज़ों पर चर्चा न होने के कारण ही मेरे जैसे हज़ारों लोगों के साथ सेक्स से जुड़े अपराध और त्रासदियां होती रहती हैं.'

19 जुलाई को शुरू हो चुका ये शो मुंबई, दिल्ली और कोलकाता में हर रविवार दोपहर 12 बजे से 2 बजे तक आता है. हरीश के मुताबिक, 'अब तक इस शो को सकारात्मक प्रतिक्रियाएं मिली हैं.' उनसे जब पूछा गया कि 'क्या आपको लगता है कि हमारा देश इस तरह के शो के लिए तैयार है?' इस पर हरीश का कहना था कि 'कोई भी किसी भी चीज़ के लिए तैयार नहीं होता है, आपको बस पहला कदम उठाने की ज़रूरत होती है'.

Source: LATimes