कैंटीन स्टोर डिपार्टमेंट(CSD) का मेकओवर होने जा रहा है. सीएसडी यानि वो डिपार्टमेंट जो देश की थल सेना, नौसेना और वायुसेना से जुड़े सिपाहियों और अफ़सरों को कम दर पर रोज़मर्रा के सामान मुहैया कराती है. अभी तक ग्रोसरी से लेकर बाकी ज़रुरत का कोई भी सामान के लिए, आर्मी के सैनिक और उनके परिवार वाले CSD स्टोर में जाते थे. लेकिन सीएसडी अब न केवल ऑनलाइन होगी बल्कि कुछ नए सिस्टम भी लॉन्च हो रहे हैं जिससे ग्राहकों को लेटेस्ट सामान के लिए स्टोर पर जाने की ज़रूरत नहीं पड़ेगी.

कैंटीन स्टोर डिपार्टमेंट (CSD) से जुड़े ये तथ्य आपको ज़रूर जानने चाहिए

सीएसएडी की कोशिश है कि कार्डहोल्डर्स को बड़े ब्रांड्स की लेटेस्ट चीज़ों से महरुम न रहना पड़े. इन बदलावों को लेकर अगुआई एयर वाइस मार्शल एम बालादित्य कर रहे हैं. बालादित्य, सीएसएडी के जनरल मैनेजर और चेयरमैन भी हैं. वे अपनी इन महत्वाकांक्षी योजनाओं को दीवाली तक शुरू करना चाहते हैं. उन्होंने कहा ' कई प्रॉडक्ट्स ऐसे हैं जो बाज़ार में लॉन्च होने के बावजूद हमारे स्टोर्स पर उपलब्ध नहीं हो पाते, या फिर कई दिनों बाद उपलब्ध होते हैं.

उन्होंने कहा कि 'हम चाहते हैं कि जिस दिन बाज़ार में कोई नया प्रॉडक्ट लॉन्च हो, उसी दिन वो प्रॉडक्ट सीएसडी स्टोर पर हमारे ग्राहकों के लिए उपलब्ध हो. इस सिलसिले में अब हर साल दो की जगह छह बोर्ड मीटिंग्स की जाएंगी ताकि नए प्रॉडक्ट्स को कैंटीन स्टोर तक पहुंचने में लगने वाला समय कम किया जा सके. हम इस सिलसिले में हिंदुस्तान यूनीलीवर और Procter & Gamble जैसी कंपनियों से भी बात कर रहे हैं.'

बालादित्य ने कहा कि 'हम अपने सभी ब्रांड्स को ऑनलाइन उतारना चाहते हैं. इंटरनेट बैंकिंग की सहायता से ग्राहक ऑनलाइन पेमेंट कर सकेंगे. हम इस मामले में सभी बड़ी कंज्यूमर कंपनियों से बात भी कर रहे हैं ताकि ऑनलाइन सिस्टम को ग्राहकों के लिए आसाना बनाया जा सके'. ऑनलाइन होने के साथ ही साथ सीएसडी एक App बेस्ड इ-कॉमर्स मॉडल पर भी नज़रें गड़ाए हुए है. इस प्लान को आगे बढ़ाने के लिए सीएसडी और विशेषज्ञों के बीच बातचीत का दौर जारी है.

Source: Times of India