हाल ही में रोहित शर्मा की कप्तानी में भारतीय सीनियर टीम ने बांग्लादेश को हराकर 'एशिया कप' का ख़िताब अपने नाम किया है. अब भारतीय अंडर-19 टीम ने भी शानदार प्रदर्शन करते हुए एशिया कप-2018 अपने नाम कर लिया है. ढाका में खेले गए फ़ाइनल मुक़ाबले में भारतीय टीम ने श्रीलंकाई टीम को 144 रन से रौंदकर छठी बार एशिया कप अपने नाम किया. फ़ाइनल मुक़ाबले में भारतीय टीम ने पहले बल्लेबाज़ी करते हुए 304 रन का विशाल स्कोर खड़ा किया. जवाब में श्रीलंकाई टीम मात्र 38.4 ओवर में 160 रन पर सिमट गयी.

Source: rajexpress

राहुल द्रविड़ की कोचिंग वाली इस टीम ने एशिया कप के सभी मुक़ाबलों में शानदार प्रदर्शन किया. इस दौरान कई युवा खिलाड़ियों ने अपने प्रदर्शन से सबका ध्यान अपनी ओर खींचा है. यशस्वी जायसवाल, आयुष बडोनी, अनुज रावत, देवदत्त पडिक्कल, हर्ष त्यागी, प्रभ सिमरन सिंह और सिद्धार्थ देसाई ये वो युवा खिलाड़ी हैं, जिन्होंने अपने शानदार प्रदर्शन से टीम को कई मौक़ों पर जीत दिलाई. इनमें से कुछ खिलाड़ी तो ऐसे हैं, जो आने वाले कुछ सालों में सीनियर टीम में खेलते हुए दिख जायेंगे, क्योंकि जिस टीम के कोच राहुल द्रविड़ हों, तो उसके खिलाड़ियों में कुछ तो बात होगी.

आईये जानते हैं कि कितना दम हैं इन फ़्यूचर स्टार्स में जो इन दिनों जूनियर टीम इंडिया में अपने प्रदर्शन से तहलका मचा रहे हैं.

1- यशस्वी जायसवाल

Source: mcccricket

यशस्वी जायसवाल वही खिलाड़ी हैं, जो कुछ समय पहले तक मुंबई की सड़कों पर समोसे बेचा करते थे. यशस्वी ने कड़ी मेहनत के दम पर अंडर-19 टीम में जगह बनाई. इस सलामी बल्लेबाज़ ने एशिया कप के 4 मैचों में 79.50 की शानदार औसत से सर्वाधिक 318 रन बनाये, जिसमें 1 शतक व 2 अर्द्धशतक शामिल हैं. यशस्वी ने नेपाल के ख़िलाफ़ पहले मैच में 104 रन की पारी खेलकर टीम को धमाकेदार जीत दिलाई थी.

2- आयुष बडोनी

Source: jansatta

दिल्ली के इस दाएं हाथ के विस्फोटक बल्लेबाज़ ने 5 मैचों में 66.67 की शानदार औसत से 200 रन बनाये. आयुष ने फ़ाइनल मुक़ाबले में 28 गेंदों पर 52 रन की धमाकेदार पारी खेली, जिसमें 5 छक्के और 2 चौके शामिल थे. आयुष टूर्नामेंट में सबसे ज़्यादा 12 छक्के लगाने वाले खिलाड़ी भी रहे. इस प्रदर्शन के आधार पर आयुष को अगले साल होने वाले आईपीएल में अच्छी ख़ासी रकम मिल सकती है.

3- अनुज रावत

Source: bhaskar

विकेटकीपर बल्लेबाज़ अनुज ने 4 मैचों में 48.50 की औसत से 194 रन बनाये. उन्होंने 1 शतक व 1 अर्द्धशतक लगाकर टीम की जीत में अहम भूमिका निभाई. अनुज आने वाले समय में टीम इंडिया के लिए विकिटकीपिंग की दावेदारी ठोंक सकते हैं.

4- देवदत्त पडिक्कल

Source: inshorts

केरल के 18 वर्षीय सलामी बल्लेबाज़ पडिक्कल भी इस टीम के अहम खिलाड़ी रहे. उन्होंने 4 मैचों में 1 शतक के साथ कुल 183 रन बनाये. पडिक्कल एशिया कप में यूएई के ख़िलाफ़ 121 रन की शानदार पारी खेली थी. जो कि इस टूर्नामेंट का टॉप स्कोर भी रहा.

5- प्रभ सिमरन सिंह

Source: samnaactivist

सिमरन सिंह ने एशिया कप में भारतीय टीम की कमान संभाली. कप्तान के तौर पर उन्होंने मुसीबत के समय रन बनाकर टीम को जीत दिलाने का काम किया. इस दौरान सिमरन ने 5 मैचों में 2 अर्द्धशतक के साथ कुल 174 रन बनाये. सिमरन आक्रामक बल्लेबाज़ी करते हैं और अगले साल उन्हें भी आईपीएल में खेलने का मौका मिल सकता है.

6- सिद्धार्थ देसाई

Source: cricketcountry

अहमदाबाद के इस बाएं हाथ के Orthodox स्पिनर ने एशिया कप के 5 मैचों में 8.44 की शानदार औसत से सर्वाधिक 18 विकेट चटकाए. सिद्धार्थ ने यूएई के ख़िलाफ़ 24 रन देकर 6 विकेट झटके थे. टीम इंडिया को इस समय एक बाएं हाथ के अच्छे स्पिनर की तलाश है, जिसे सिद्धार्थ पूरी कर सकते हैं.

7- हर्ष त्यागी

दिल्ली के इस बाएं हाथ के Orthodox स्पिनर ने भी एशिया कप की जीत में अहम भूमिका निभाई. हर्ष ने फ़ाइनल मुक़ाबले में कमाल का प्रदर्शन करते हुए 38 रन देकर 6 विकेट झटके. हर्ष एशिया कप के 4 मैचों में 14 विकेट लेकर दूसरे सबसे सफ़ल गेंदबाज़ रहे.

राहुल द्रविड़ की कोचिंग में आज भारत को पृथ्वी शॉ, ऋषभ पंत, शुभमन गिल, ईशान किशन, सरफ़राज़ ख़ान, कमलेश नागरकोटी, शिवम मावी और ईशान पोरेल जैसे कई बेहतरीन युवा खिलाड़ी मिले हैं.