अगस्त में केरल में आई विनाशकारी बाढ़ ने लोगों का जीवन अस्त-व्यस्त कर दिया था. आपदा की इस घड़ी में भारतीय नौसेना ने कई जोखिम भरे रेस्क्यू अभियान चला कर सैंकड़ों लोगों की जान बचाई थी. उन्हीं में से एक इंडियन नेवी के एक कमांडर और पायलेट को एशियन ऑफ़ द ईयर के अवॉर्ड से सम्मानित किया गया है.

Source: News18.com

ये अवॉर्ड सिंगापुर के फ़ेमस अख़बार The Straits Times द्वारा दिया गया है. अवॉर्ड पाने वाले पहले नौसैनिक का नाम है विजय वर्मा. 42 वर्षीय नौसेना के कमांडर विजय ने केरल बाढ़ के दौरान एक प्रेग्नेंट महिला को व्हीलचेयर के ज़रिये लिफ़्ट कर बचाया था. इस महिला ने बाद में कोच्ची के एक अस्पताल में एक स्वस्थ बच्चे को जन्म दिया था. प्रेग्नेंट महिला को रेस्क्यू करते नौसेना के हेलीकॉप्टर का ये वीडियो इंटरनेट पर वायरल भी हुआ था.

वहीं 54 वर्षीय कैप्टन राजकुमार बाढ़ के दौरान पेड़ों और ऊंचे-ऊंचे मकानों जैसे जोखिम भरे इलाकों में अपना हेलीकॉप्टर लेकर पहुंचे थे. उन्होंने इस रेस्क्यू अभियान में कुल 32 लोगों को सुरक्षित जगह पहुंचाया था. पिछले साल इन्होंने चक्रवात में फंसे एक मछुआरे को रेस्क्यू किया था. इसके लिए उन्हें सेना मेडल से सम्मानित किया गया था.

Source: Economic Times

हालांकि, बाढ़ग्रस्त केरल में सिर्फ़ इन दो पायलेट्स ने ही रेस्क्यू अभियान नहीं चलाया था. उनके अलावा कई नौसैनिकों ने साहस और बहादुरी का परिचय देते हुए केरवालसियों की जान बचाई थी. The Straits Times 2012 से एशियन ऑफ़ द ईयर अवॉर्ड देता आ रहा है.

ये अवॉर्ड ऐसे लोगों को दिया जाता है, जो आपदा और मुसीबत में फंसे लोगों की मदद करने के लिए आगे आते हैं. इस अख़बार ने इसी साल सिंगापुर के पैरागलाइडर Ng Kok Choon को भी इस अवॉर्ड से मरणोंपरांत सम्मानित किया है. इनकी इंडोनेशिया के सुलावाशी में आए भूकंप में रेस्क्यू अभियान चलाते हुए मौत हो गई थी.

Source: Thebetterindia