दुनिया भर में आइसक्रीम को बड़े चाव से खाया जाता है, लेकिन इन आइसक्रीम्स के साथ एक समस्या होती है, जिससे अक्सर लोगों को जूझना पड़ता है. दरअसल, इन्हें जैसे ही किसी कंटेनर से निकाल कर परोसा जाता है, उसी समय से ये पिघलना शुरु हो जाती हैं. यही कारण है कि ज़्यादातर लोग अपनी आईसक्रीम को जल्दी-जल्दी ख़त्म करना ही पसंद करते हैं. लेकिन अब आप चाहें तो अपनी आईसक्रीम को इत्मीनान से खा सकते हैं.

जापान के कानाज़ावा यूनिवर्सिटी के रिसर्चर्स ने एक ऐसा तरीका खोज निकाला है, जिससे आपकी आइसक्रीम सामान्य तापमान में तीन घंटों तक भी नहीं पिघलेगी. दरअसल आईसक्रीम के Melting Point को बढ़ाकर ये प्रयोग किया गया है. रिसर्चर्स ने टेस्टिंग के लिए आईसक्रीम पर गर्म हवा का इस्तेमाल किया, इसके अलावा हेयरड्रायर का भी पांच मिनटों तक इस्तेमाल किया गया लेकिन आइसक्रीम तब भी नहीं पिघली.

【奇跡のコラボレーション✨】 . 大阪府アメリカ村店よりBIGニュース✨✨ . なんと!大阪府アメリカ村店では 限定!超目玉商品として 阪神タイガースアイスの販売が決定🐯💓 . 阪神タイガース×金座和アイス 奇跡のコラボレーションです🐯✨ . 味はバニラとマンゴーの2種類を ご用意しております〜\( ˆoˆ )/💓 . もちろんOPEN初日から販売しますよ〜!!! . 猛虎で猛暑を乗り切りましょう🐯🔥 . . KANAZAWA ICE 大阪アメリカ村店 7/15 OPENです\( ˆoˆ )/💓💓💓 お楽しみに〜〜〜〜✨✨✨ . #金座和アイス #kanazawaice #溶けないアイス #不思議 #新店舗 #新店 #新店オープン #大阪 #アメ村 #心斎橋 #阪神タイガース #コラボレーション #東京 #原宿 #竹下通り#金沢 #ひがし茶屋街 #アイスクリーム #スイーツ #デザート #icecream #sweets #food #フォトジェニック _

A post shared by 金座和アイス (@kanazawaice) on

कानाज़ावा यूनिवर्सिटी के प्रोफ़ेसर तोमिहिसा ओटा के मुताबिक, आइसक्रीम में Polyethnol लिक्विड इंजेक्ट कर दिया जाता है. ये लिक्विड स्ट्राबेरी से निकलता है और ये पानी और तेल को एक-दूसरे से अलग होने से रोकता है. इसी वजह से आइसक्रीम ज़्यादा देर तक अपने शेप में रह पाती है.

उन्होंने कहा कि जिस भी आइसक्रीम में इस तरह का लिक्विड होगा, उन्हें पिघलाना बेहद मुश्किल होगा और इन्हें पिघलने में सामान्य से ज़्यादा समय लगेगा. इन पर तापमान का भी कोई असर नहीं होता और ये चॉकलेट, वनीला और स्ट्रॉबेरी फ़्लेवर में उपलब्ध है.

Source: Hindustan Times