दक्षिण भारत हमेशा से ही अपने समृद्ध इतिहास, लुभावने समुद्रीय तट और लज़ीज़ व्यंजन के लिए जाना जाता है. दक्षिण भारत की कई ख़ूबसूरत जगहें पर्यटकों की पहली पसंद हैं. लेकिन जब हम घूमने-फिरने के लिए किसी बर्फ़ीली जगह के बारे में सोचते हैं, तो दक्षिण भारत हमारी लिस्ट में नहीं होता है, बल्कि शिमला, गुलमर्ग, मनाली और नैनीताल हमारे फ़ेवरेट होते हैं. दक्षिण भारत की बस एक यही कमज़ोरी है कि वहां बर्फ़बारी नहीं गिरती. लेकिन आंध्र प्रदेश का एक छोटा सा गांव 'लांबासिंगी' एकमात्र ऐसी जगह है जहां आप बर्फ़बारी का आनंद ले सकते हैं.

लांबासिंगी

Source: noblehousetours

लांबासिंगी को आंध्र प्रदेश का कश्मीर भी कहा जाता है. छोटे से इस ख़ूबसूरत गांव की ख़ासियत ये है कि ठंड के मौसम में आप यहां बर्फ़बारी का आनंद ले सकते हैं, वहीं गर्मियों में आप यहां के ठंडे वातावरण के कायल हो जायेंगे. समुद्र तल से 1000 मीटर की ऊंचाई पर स्थित ये गांव विशाखापट्नम के चिंतापल्ली कस्बे में स्थित है. यहां की स्थानीय भाषा में इस गांव को 'कोर्रा बयालु' के नाम से भी जाना जाता है जिसका मतलब होता है 'अगर आप इस गांव में रात के वक़्त बाहर सोयेंगे, तो सुबह आप एक लकड़ी की तरह जम जायेंगे.'

Source: tripadvisor

लांबासिंगी साल भर सफ़ेद धुंध से ढका रहता है ख़ासकर नवंबर से जनवरी तक यहां का तापमान शून्य डिग्री सेल्सियस के नीचे रहता है. इस दौरान बर्फ़बारी का आनंद भी ले सकते हैं. इस गांव में अधिकतर आदिवासी समुदाय के लोग रहते हैं, जो काली मिर्च और कॉफी के बागानों में काम करते हैं.

Source: noblehousetours

अगर आप भी इस गांव की सैर करना चाहते हैं, तो बता दें कि यहां आप क्या-क्या कर सकते हैं और कहां-कहां घूम घूम सकते हैं.

1- कोठापल्ली वाटरफ़ॉल

लांबासिंगी से करीब 27 किमी दूर ये वाटरफ़ॉल बेहद ख़ूबसूरत है. आप इसकी प्राकृतिक सुंदरता के कायल हो जायेंगे. ये जगह न सिर्फ़ स्थानीय लोगों के घूमने-फिरने की जगह है, बल्कि यहां हर साल हज़ारों पर्यटक भी आते हैं.

2- लांबासिंगी में कैंपिंग

Source: noblehousetours

रात के समय खुले आसमान के नीचे एक बोनफ़ायर के चारों ओर बैठकर कैंपिंग का मज़ा ही कुछ और है. घर से निकलते वक़्त कैंपिंग का सामान साथ रखना न भूलें. क्योंकि ये सब चीज़ें इस गांव की लोकल मार्केट में नहीं मिलेंगी.

3 - Thajangi Reservoir

Source: noblehousetours

लांबासिंगी से केवल 6 किमी दूर स्थित ये जगह बेहद ख़ूबसूरत है. लांबासिंगी से विशाखापत्तनम वापस आते समय आप Thajangi Reservoir में रुक सकते हैं. यहां की ख़ूबसूरत पहाड़ियां, नदी में बहता शांत पानी और पानी से लबालब जलाशय फ़ोटोग्राफ़ी के शौक़ीनों के लिए परफ़ेक्ट जगह है. इस जगह की बढ़ती लोकप्रियता को देखते हुए जल्द ही आंध्र प्रदेश पर्यटन विकास निगम यहां एक रिसॉर्ट खोलने की योजना बना रहा है. ताकि पर्यटकों को यहां ठहरने की अच्छी सहूलियत मिल सके.

इसके अलावा भी लांबासिंगी में कई और ऐसी ख़ूबसूरत जगहें हैं, जहां आप प्राकृतिक सौंदर्य का आनंद ले सकते हैं.

क्या खाएं

Source: vizaghoverclub

विशाखापट्नम अपने समुद्री खान पान के लिए बेहद प्रसिद्ध है. यहां आप चिकेन स्टेव के साथ स्टीम्ड राईस, ड्राई फ़िश करी, टोपा, सेरुवा टीप, टीपे सेमिया और क्रैब स्टेव जैसी लोकल डिसेज़ का का मज़ा ले सकते हैं.

कैसे जाएं

Source: indiantouristplace

लांबासिंगी से 107 किमी दूर विशाखापत्तनम एयरपोर्ट है. एयरपोर्ट से लांबासिंगी के लिए सरकारी और प्राइवेट बस लगातार चलती रहती हैं. अगर आप ट्रेन से सफ़र करना चाहते हैं, तो भी विशाखापत्तनम ही आख़िरी स्टेशन होगा.

कब जाएं

Source: noblehousetours

लांबासिंगी जाने के लिए नवम्बर से लेकर जनवरी तक का समय सबसे बेहतर रहेगा. इस दौरान यहां का तापमान क़रीब शून्य डिग्री तक चला जाता है. इस दौरान आपको यहां पर आपको बर्फ़बारी भी देखने को मिल सकती है. 15 जनवरी 2012 को यहां बर्फ़बारी हुई थी.

तो दोस्तों सोच क्या रहे हो, बैग पैक करिये और लांबासिंगी की ट्रिप पर निकल जाईये और हां अपने एक्सपीरिएंस हमारे साथ शेयर करना न भूलें.

Source: tripoto.com