हम जिस धरती में पैदा हुए हैं उससे हमें बेहद प्यार होता है. ये धरती हमारे लिए मां के समान है. अगर आपको भी यही लगता है कि आप इसी धरती से हैं तो आप ग़लत सोच रहे हैं. दरअसल, इंसान इस धरती का प्राणी है ही नहीं.

ऐसा हम नहीं बल्कि एक रिसर्च कह रही है-

इस रिसर्च के मुताबिक़ 'पृथ्वी पर जीवन दूसरे ग्रह से आया है. इसका मतलब ये कि हम इंसान नहीं, बल्कि एलियन हैं!

Source: dw.com

साइंस एडवांसेस में छपी ख़बर के मुताबिक़, 'राइस यूनिवर्सिटी से स्नातक Planetary Scientist दमनवीर ग्रेवाल की टीम को पृथ्वी पर मनुष्य जीवन किसी दूसरे ग्रह से आने के संकेत मिले हैं. पृथ्वी पर मनुष्य जीवन के लिए जो कुछ भी ज़रूरी चीजें चाहिए थीं वो मंगल जैसे किसी विशाल ग्रह की टक्कर से ही संभव हो पाया. जबकि 4.4 अरब साल पहले सौर मंडल बन चुका था.

Source: amazingfact

दरअसल, पिछले काफ़ी समय से वैज्ञानिक इस विषय पर रिसर्च कर रहे थे और कई तरह के आंकड़े जुटाने के बाद वैज्ञानिकों की इस टीम को पता चला कि पृथ्वी पर जीवन किसी दूसरे ग्रह की वजह से ही संभव हो पाया है.

Source: rahasyamaya

अध्ययन का दावा है कि उन्होंने इसके लिए बाकायदा कंप्यूटर सिमुलेशन लैब्स में अध्ययन किया है, जिससे ये पता चला कि पृथ्वी और उसके सोलर पड़ोसी के प्रभाव के कारण ही पृथ्वी पर मानव जीवन की उत्पत्ति हुई है.

Source: amarujala

अब आप सोच रहे होंगे कि जब मंगल जैसा कोई विशाल ग्रह पृथ्वी पसे टकराया था, तो वो अब कहां है? धरती पर उसके अवशेष दिखाई क्यों नहीं देते? ऐसा इसलिए है क्योंकि उसके अवशेष से ही चांद अस्तित्व में आया था. वही चांद जो पृथ्वी के चारों ओर चक्कर लगाता है.

Source: rahasyamaya

फिर तो इसका ये मतलब हुआ कि चंद्रमा पर भी मानव जीवन संभव है और हमें ज़ल्द ही हमारे इस निकटतम प्लेनेट पर लोगों की बस्तियां देखने को मिलेंगी.

Source: indiatimes