भारतीय टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी भले ही 37 साल के हो गए हों लेकिन फ़िटनेस के मामले में वो आज भी युवा खिलाड़ियों को टक्कर देते हैं. इसका एक उदहारण हमें शनिवार को भारत और वेस्ट इंडीज़ के बीच खेले गए तीसरे वनडे मुक़ाबले में देखने को मिला.

Source: indiatoday

दरअसल, इस मैच के दौरान धोनी ने एक ऐसा असंभव कैच पकड़ा जो मीडिया से लेकर सोशल मीडिया में सुर्ख़ियां बटोर रहा है.

पुणे में खेले गए इस मुक़ाबले में वेस्ट इंडीज़ की टीम पहली बल्लेबाज़ी कर रही थी. पारी का छठा ओवर लेकर आए बुमराह के सामने वेस्ट इंडीज़ के युवा बल्लेबाज़ हेमराज चंद्रपॉल थे. हेमराज बुमराह के इस ओवर की तीसरी गेंद पर चौका जबकि चौथी गेंद पर एक शानदार छक्का लगा चुके थे. ओवर की पांचवी गेंद को भी चंद्रपॉल छक्का उड़ाने की कोशिश कर बैठे, लेकिन गेंद उनके बल्ले पर सही से आई नहीं और हवा में काफ़ी ऊंची चली गयी.

इस दौरान कैच को लपकने के लिए वहां कोई फ़ील्डर भी मौजूद नहीं था. हेमराज को भी यकीन हो गया कि कैच मिस हो जाएगा और वो रन लेने में जुट गए. लेकिन इसके बाद जो हुआ वो देखने लायक था. विकेट के पीछे खड़े धोनी हवा में जाती गेंद पर अपनी नज़रें गड़ाए बैठे थे. धोनी को जब गेंद के नीचे कोई फ़ील्डर नहीं दिखा तो वो चीते सी फूर्ती दखाते हुए कैच लपकने दौड़ पड़े और कुछ ही सेकंड में गेंद धोनी के हाथों में थी. कैच इतना मुश्किल था कि कुछ देर के लिए चंद्रपॉल को भी यकीन नहीं हुआ कि धोनी ने कैच लपक लिया है. इसके साथ ही धोनी ने ये शानदार कैच लपक कर ख़तरनाक दिख रहे चंद्रपॉल की पारी पर अंत कर दिया.

वो कहते हैं न कि जो अनहोनी को होनी कर दे वही तो महेंद्र सिंह धोनी हैं. इस उम्र में भी धोनी की फूर्ती को देखकर न सिर्फ़ मैदान पर मौजूद दर्शक, बल्कि साथी खिलाड़ी भी हैरान थे. भले ही अंत में भारत इस मैच को जीत न पाया हो लेकिन धोनी ने सबका दिल जीत लिया.

दरअसल, इस मैच से पहले धोनी के लिए एक बुरी ख़बर आयी थी. ख़राब फ़ॉर्म से जूझ रहे धोनी को वेस्ट इंडीज़ और ऑस्ट्रेलिया के ख़िलाफ़ खेले जाने वाले टी-20 मुक़ाबलों से बाहर कर दिया गया है. धोनी के क्रिकेट करियर में ऐसा पहली बार हुआ है जब उन्हें किसी सीरीज़ के लिए ड्रॉप किया गया है.

धोनी की फ़िटनेस और इस शानदार कैच को देखकर चयनकर्ताओं के मन में अब एक सवाल उठ रहा होगा कि वेस्टइंडीज और ऑस्ट्रेलिया दौरे के लिए धोनी को टी-20 टीम से बाहर करना कितना सही फैसला था. धोनी की जगह टीम में युवा विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत को मौका दिया गया है.

Source: indiatoday