दिन-ब-दिन संवेदनहीन होते समाज की एक और भयावह तस्वीर सामने आई है. मध्य प्रदेश के भोपाल में एक 80 वर्षीय बुज़ुर्ग महिला की पुलिस ने पीट-पीट कर पसलियां तोड़ दीं. इस मारपीट में महिला के पति 83 साल के गोपाल के पैर में भी चोट आई है.

महिला का दावा है कि उनके बेटों और पोतों की भी पिटाई की गई और घर में आंसू गैस के गोले तक छोड़े गए. महिला के मुताबिक, पुलिस घऱ में जबरन घुस आई और कहने लगी कि 'बुड्ढी पथराव करवा रही है, आग लगवा रही है'. 'उन्होंने मुझे पथराव करने वालों को घर में छुपाने का आरोप लगाया और मेरी पिटाई की गई'.

गौरतलब है कि चार पुलिसकर्मियों ने कमलाबाई की पिटाई की थी, जिसकी तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हुई थी. कमलाबाई के परिवार में 7 लोग हैं और इस घटना के बाद वे और उनके पति गोपाल मुख्यमंत्री से मिलने दशहरा मैदान गए, लेकिन उनकी मुलाकात नहीं हो पाई. परिवार के 5 सदस्य भी पुलिस हिरासत में हैं. इस मामले में एसपी अरविंद सक्सेना ने कहा कि 'मामले की जांच चल रही है'.

Source: Times of India