भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच मेलबर्न में खेले जा रहे तीसरे टेस्ट मैच में मयंक अग्रवाल ने डेब्यू करते हुए शानदार 76 रन की पारी खेली. पिछले दो टेस्ट मैचों में भारतीय ओपनिंग जोड़ी के बुरी तरह फ़्लॉप रहने के बाद मयंक ने मौके का फ़ायदा उठाते हुए अपने पहले ही मैच में भारत को शानदार शुरुआत दिलाई.

Source: lokmat

दरअसल, मयंक अग्रवाल पिछले काफ़ी समय से घरेलू क्रिकेट में लगातार अच्छा प्रदर्शन करते आ रहे हैं. यही कारण है कि उन्हें ऑस्ट्रेलिया जैसे मुश्किल दौरे पर टीम में जगह मिली है. पिछले एक साल से जब भी भारतीय टेस्ट टीम चुनी जाती थी, मयंक का नाम सबसे ऊपर होता था. बावजूद इसके अंतिम समय में उनको नज़रअंदाज़ कर दिया जा रहा था. अब जब मौका मिला, तो मयंक ने उसका भरपूर फ़ायदा उठाया.

जैसा कि हम आपको पहले ही बता चुके हैं कि घरेलु क्रिकेट में अच्छा प्रदर्शन करने के कारण ही मयंक टेस्ट टीम में जगह बनाने में कामयाब हुए हैं. पिछले साल मयंक ने फ़र्स्ट क्लास क्रिकेट में महाराष्ट्र के खिलाफ़ नाबाद 304 रन की पारी खेली थी, लेकिन ये बात ऑस्ट्रेलियन कॉमेंटेटर कैरी ओ कीफ़ को रास नहीं आई.

Source: timesnownews

मेलबर्न टेस्ट के दौरान जब मयंक बल्लेबाज़ी कर रहे थे उस वक़्त कॉमेंटेटर कैरी ओ कीफ़ ने न सिर्फ़ मयंक का अपमान किया, बल्कि उन्होंने भारतीय घरेलू क्रिकेट सिस्टम पर भी सवाल खड़े किए.

Source: mix.com

कैरी का कहना था कि 'मयंक अग्रवाल ने फ़र्स्ट क्लास क्रिकेट में जो 300 रन की पारी खेली थी वो शेफ़ और वेटर्स के खिलाफ़ खेली थी.

जबकि पूर्व ऑस्ट्रेलियाई दिग्गज मार्क वॉ का कहना है कि भारत में मयंक का बैटिंग औसत 50 है, जो ऑस्ट्रेलिया में 40 के बराबर माना जाता है.

घरेलू क्रिकेट में मयंक का रिकॉर्ड

Source: hindustantimes

मयंक ने अपना फ़र्स्ट क्लास डेब्यू साल 2013 में झारखंड के खिलाफ़ किया था. वो अब तक कर्नाटक के लिए कुल 46 फ़र्स्ट क्लास और 75 लिस्ट ए मैच खेल चुके हैं. फ़र्स्ट क्लास क्रिकेट में लगभग 50 की औसत से 3599 रन बना चुके हैं. नवंबर 2017 में उन्होंने में महाराष्ट्र के खिलाफ़ नाबाद 304 रन की पारी खेली थी.

कैरी की इस बेहूदा टिप्पणी के बाद सोशल मीडिया पर न सिर्फ़ भारतीय, बल्कि ऑस्ट्रेलियन क्रिकेट फ़ैंस ने भी उनकी ख़ूब आलोचना की.

Source: jagran.com