अमेरिका की उत्तरी मिशिगन यूनिवर्सिटी एक बेहद अनूठा कोर्स प्रस्तुत करने जा रही है. अब तक आपने गांजा को लोगों द्वारा छिपते-छिपाते पीते हुए देखा होगा लेकिन ये यूनिवर्सिटी अब गांजा का डिग्री प्रोग्राम शुरू करने जा रही है. यूनिवर्सिटी ने इस सेमेस्टर में 'मेडिकल प्लांट केमिस्ट्री प्रोग्राम' नाम से इस कोर्स को शुरू किया है. इस कोर्स की शुरूआत 12 छात्रों के साथ हो रही है. इस प्रोग्राम में केमिस्ट्री, बायोलॉजी, बॉटनी, मार्केटिंग, हॉर्टीकल्चर और फ़ाइनेंस जैसे विषय शामिल होंगे.

ये एक अनूठा प्रोग्राम होगा क्योंकि चार साल के इस कोर्स में इन छात्रों को गांजा के पीछे का विज्ञान और बिज़नेस की बारीकियों को भी सिखाया जाएगा. वहीं दूसरी यूनिवर्सिटीज़ में अक्सर गांजा की पॉलिसी और क़ानून के बारे में ही पढ़ाया जाता है. इसके अलावा कैलिफ़ॉर्निया में मौजूद कई कॉलेजों में भी कई तरह के विषयों में सर्टीफ़िकेट प्रदान किए जाते हैं.

Source: cdni.rt

इस कोर्स को करने वाले एक छात्र एलेक्स का कहना था कि बहुत सारे लोग हैं, जो सोचते हैं कि गांजा उगाने में डिग्री का मतलब तो बहुत फ़न होता होगा लेकिन असल बात ये है कि ये एक बेहद मुश्किल कोर्स है.

वहीं केमिस्ट्री के एक एसोसिएट प्रोफ़ेसर का कहना था कि इस प्रोग्राम के तहत स्टूडेंट्स को गांजा उगाना नहीं सिखाया जाएगा, बल्कि उन पारंपरिक पौधों की स्टडी की जाएगी जिन पर प्रतिबंध नहीं है और जिन्हें अपनी मेडिसिनल वैल्यू के चलते बहुत किफ़ायती माना जाता है. गौरतलब है कि अमेरिका में गांजा को Medical marijuana की तरह भी उपयोग किया जाता है. इससे Chronic pain, Nausea, Seizures and Glaucoma जैसी बीमारियों में राहत मिलती है.

इस प्रोफ़ेसर ने बताया कि पिछले साल हुई अमेरिकन केमिकल सोसाइटी की वार्षिक मीटिंग के दौरान उन्होंने ये फ़ैसला लिया था. उस दिन मेरा ऑफ़ था और मैंने देखा कि एक कैनेबिस केमिस्ट्री ग्रुप इस मसले पर गहन चर्चा कर रहा था. इस गहन चर्चा को देखते हुए ही मुझे इस कोर्स के बारे में ख्याल आया और इसके बाद इस पर काम होना शुरू हुआ.

Source: cloudfront

यूनिवर्सिटी के अधिकारियों का कहना है कि अमेरिका के 29 राज्यों में medical marijuana क़ानूनी हो चुका है. इसके अलावा 8 राज्यों में तो ये रिक्रिएशन्ल तौर पर भी लीगल हो चुका है. ऐसे में ये ज़रूरी था कि किसी ऐसे कोर्स की शुरूआत की जाए जिससे लोगों को मेडिकल मैरुआना के फ़ायदों को बाकी क्षेत्रों में भी पहुंचाया जाए.

Source: fox6now