रेलमंत्री सुरेश प्रभु और विदेशमंत्री सुषमा स्वराज द्वारा लोगों की मदद के कई किस्से आप देख चुके होंगे, जहां उन्होंने ज़रूरतमन्द की मदद के लिए हर सम्भव कोशिश की. इसी लिस्ट में नया नाम प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का भी जुड़ गया है.

ख़बरों के मुताबिक ध्रुबज्योति कालिता बंगाल के डिब्रूगढ़ के रहने वाले हैं और हाल ही में एक बच्ची के पिता बने हैं. उनकी बेटी अभी 8 दिन की हुई ही थी कि पता चला वो Meconium Aspiration Syndrome से पीड़ित है. इस बीमारी की वजह से बच्ची के लंग्स में मल जम गया और उसकी हालात ख़राब होने लगी. बच्ची को बचाने के लिए डिब्रूगढ़ के डॉक्टरों ने उसे दिल्ली के सर गंगा राम हॉस्पिटल रेफेर किया. इसके लिए प्रधानमंत्री ने दिल्ली पुलिस को निर्देश दिया कि कहीं भी किसी तरह की रुकावट न मिले.

ये प्रधानमंत्री की आज्ञा का ही असर था कि बच्ची को जहाज़ के माध्यम से इंदिरा गांधी एयरपोर्ट लाया गया. यहां बिना कोई समय गंवाए, उसे सीधे हॉस्पिटल ले जाया गया. बच्ची के पिता के मुताबिक, यदि बच्ची को लाने में 7 मिनट की भी देरी हो जाती, तो उसे बचाना मुश्किल हो जाता.

बच्ची के पिता इसके लिए प्रधानमंत्री और दिल्ली पुलिस का शुक्रिया करते हैं, जिनकी वजह से हमेशा ट्रैफिक से जूझने वाली दिल्ली में समय गंवाए बिना उन्हें हॉस्पिटल पहुंचा दिया. वो कहते हैं प्रधानमंत्री हमारे लिए किसी फ़रिश्ते से कम नहीं, जिनकी वजह से आज मेरी बच्ची मेरे पास है.

गंगा राम में इलाज कर रहे डॉक्टरों का कहना है कि 'जब बच्ची को यहां लाया गया था, उसकी कंडीशन काफ़ी क्रिटिकल थी, फ़िलहाल वो ठीक है.'

Source: topyaps