पूरी दुनिया में आये दिन हम जानवरों से जुड़ी कुछ, तो कुछ बुरी ख़बरें सुनते रहते हैं. कुछ लोग इंसानियत और मानवता को कायम रखते हुए इन जानवरों की सुरक्षा का जिम्मा भी उठाते हैं. ये लोग घायल, या सताए गए सड़क के कुत्तों या दूसरे जानवरों को नया जीवन देते हैं. मगर वहीं दूसरी ओर आये दिन बेज़ुबान जानवरों को प्रताड़ित किये जाने की ख़बरें आती रहती हैं. पिछले हफ्ते ही एक खबर आयी थी, कि एक कैब ड्राइवर ने अपनी हवस के चलते एक फीमेल डॉग को अपना शिकार बनाया जिस कारण उस डॉग की मौत हो गई. लोग अपने मनोरंजन के लिए इन बेजुबानों के साथ ऐसी हैवानियत करते हैं, जिसको शब्दों में बयां नहीं किया जा सकता है. ऐसा लगता हैं मानो इनके अंदर मानवता का अंश मात्र तक नहीं है, ये लोग इतने क्रूर होते हैं कि बर्बरता की हर हद को पार कर जाते हैं.

ऐसा ही एक विचलित करने वाली घटना मुंबई के कलिना में स्थित रिज़वी इमारत से सामने आ रही है. DNA के अनुसार, वर्षीय एक व्यक्ति ने सड़क के एक कुत्ते को इतनी बेरहमी से पीटा कि उसकी खोपड़ी की हड्डी टूट गई.

Source: DNA

कुत्ते पर ये हमला बिना किसी कारण हुआ था, जब एक कुत्ता इस आदमी के पास से उसको बिना कोई हानि पहुंचाए गुज़र रहा था, तभी उस आदमी ने लोहे की रॉड से उसको मारना शुरू कर दिया. ये पूरी घटना बिल्डिंग के सीसीटीवी कैमरे में कैद हुई है. कुत्ते की असहाय और गंभीर स्थिति को देखते हुए, वहीं के एक निवासी, सुरेखा खरात (52) ने कुत्ते की इस हालत के पीछे किसका हाथ है की जांच करने के लिए CCTV फुटेज देखी, तब उनको पता चला कि शेख़ ने ये काम किया है. इस कुत्ते का नाम Dabbu है, उसे गंभीर हालत में Prevention of Cruelty to Animals (SPCA) सेंटर ले जाया गया, जो नज़दीक की परेल सोसाइटी में स्थित हैं.

खरात ने DNA को बताया,

'हम रोज़ाना Dabbu को खाना खिलाते हैं और वो हम सब लोगों से काफ़ी घुला-मिला हुआ है. पहले हम लोग हमने Dabbu को इलाज के लिए पास की एक पशु चिकित्सा क्लिनिक में ले गए और उसके बाद उसे परेल में SPCA में स्थानांतरित कर दिया गया.'

शेख के खिलाफ ये मामला वकोला पुलिस स्टेशन में दर्ज किया गया है. पुलिस सब-इंस्पेक्टर पुलिस, दत्तात्रेय खाडे ने कहा, 'जांच के दौरान हमने पाया कि आरोपी ने एक आवारा कुत्ते को लोहे की छड़ी से मारा था. हमने भारतीय दंड संहिता की धारा 429 (मवेशियों को मारने के उद्देश्य या उनके साथ दुर्व्यवहार करना) और Prevention of Animals to Cruelty Act के तहत आरोपी को गिरफ्तार किया है."

Source: southlive

ये एक संयोग ही था कि कुत्ते को सही समय पर गंभीर स्थिति में देखा गया और तुरंत उसका इलाज और देखभाल दी गई. हालांकि, इन बेजुबानों के साथ होने वाली ऐसी क्रूरता के कई ऐसे मामले हैं, या होंगे जिनके बारे में लोगों को पता नहीं चला होगा. असहाय और बेसहारा इस कुत्ते पर इस तरह के हमले की ये घटना पूरी तरह से अशांतिपूर्ण है. हम आशा करते हैं कि आरोपी को उसके इस कुकृत्य के लिए सज़ा ज़रूर मिलेगी.

Source: DNA