उड़ीसा का 18 साल का एक शख़्स शराब के नशे में हड़बड़ी कर बैठा और मुंबई के एक मेट्रो स्टेशन से नीचे छलांग लगा दी, लेकिन वो कहते हैं न, जाको राखे साईयां मार सके न कोय. मेट्रो स्टेशन के कॉनकोर्स और ज़मीन के बीच की दूरी 30 फ़ीट होने के बावजूद ये व्यक्ति अपनी कहानी सुनाने के लिए ज़िंदा है और इतनी ऊंचाई से कूदने के बाद भी राजकुमार को केवल कोहनी में फ्रैक्चर आया है.

मेट्रो स्टेशन के एक अधिकारी ने इस पूरे घटनाक्रम को सिलसिलेवार तरीके से बताते हुए कहा कि रात करीब 8.30 बजे घाटकोपर मेट्रो स्टेशन पर राजकुमार ने टोकन को आटोमैटिक फ़ेयर कलेक्शन यानि AFC गेट में डाला था, लेकिन गेट खुल नहीं पाया.

Source: ndtv

इससे राजकुमार हडबड़ा गया और बाहर निकलने की कोशिश करने लगा. ये देखकर वहां मौजूद सिक्योरिटी गार्ड ने उसे पकड़ लिया और उससे पूछताछ के लिए ले जाने लगा. लेकिन वो हाथ छुड़ाकर भाग गया और कॉनकोर्स से 30 फ़ीट नीचे ज़मीन पर छलांग लगा दी.

राजकुमार का दावा था कि उसने साकीनाका स्टेशन से मेट्रो पकड़ी थी और वो घाटकोपर स्टेशन पर उतर गया था. वहीं मेट्रो के अधिकारियों का कहना था कि राजकुमार घटना के समय शराब के नशे में था.

अधिकारी के मुताबिक, वहां मौजूद AFC गेट इसलिए नहीं खुला क्योंकि मुंबई मेट्रो के नियमों के मुताबिक, किसी भी यात्री को टोकन जारी होने के एक घंटे के अंदर अपनी यात्रा को पूरा करना होता है और अगर यात्री एक घंटे से ज़्यादा का समय लेता है, तो ये टोकन ऑटोमैटिकली अवैध हो जाता है. ये संभव है कि राजकुमार अलग-अलग स्टेशंस पर घूम रहा होगा और शायद इसी वजह से घाटकोपर पहुंचने पर उसकी एक घंटे की समय सीमा खत्म हो गई हो.

छलांग लगाने के तुरंत बाद इस व्यक्ति के लिए एंबुलेंस को बुलाया गया और पुलिस को इस बारे में सूचना दी गई. राजकुमार का इलाज फ़िलहाल राजावाड़ी अस्पताल में चल रहा है.

Source: IndiaTimes