उत्तर प्रदेश के रायबरेली में राज्य सरकार द्वारा चलाये जा रहे NTPC ऊंचाहार प्लांट में बीते बुधवार शाम बॉयलर फटने से धमाका हो गया. ये धमाका इतना तेज़ था कि इसकी चपेट में आने से 100 लोग घायल और 25 लोग मारे गए. NTPC के अधिकारी ब्लास्ट की वजह तलाशने की कोशिश कर रहे हैं.

प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने घायलों को 50 हज़ार, जबकि मृत लोगों के परिवारों को 2 लाख देने की घोषणा की है. उत्तर प्रदेश के ADG आनंद कुमार (लॉ एंड आर्डर) का कहना है कि 'ज़िला अधिकारीयों द्वारा सौंपी गई रिपोर्ट में 20 लोगों के मरने की ख़बर है जबकि 22 लोग गंभीर रूप से जल गए हैं, जिन्हें लखनऊ भेजा गया है. अन्य घायलों को उपचार के लिए रायबरेली के ज़िला अस्पताल में रखा गया है.' इसी के साथ आनंद कुमार ने कहा कि 'घायलों की ये संख्या अभी बढ़ सकती है.'

Source: NDTV

गृह सचिव अरविन्द कुमार ने कहा है कि इस ब्लास्ट में 90-100 लोग घायल हुए हैं. National Thermal Power Corporation की रायबरेली यूनिट में 6 ऊंचाहार प्लांट हैं. शाम को 3 बजे के करीब अचानक 20 मीटर ऊंचा धमाका हुआ, जिसकी आवाज़ दूर तक सुनाई दी. 1,550 MW के इस प्लांट से 9 राज्यों में बिजली पहुंचाई जाती है. इस प्लांट में करीब 870 लोग काम करते हैं.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस दुर्घटना पर दुःख ज़ारी करते हुए ट्वीट किया. अपने ट्वीट में उन्होंने कहा कि 'रायबरेली में हुई दुर्घटना से वो आहात हैं और दुःख के इस समय में यहां काम करने वाले लोगों के परिवार के साथ उनकी सहानभूति है. इसी के साथ उन्होंने कहा कि अधिकारी इस घटना पर नज़र बनाये हुए हैं.'

घायलों की मदद के लिए दिल्ली से नेशनल डिज़ास्टर रिस्पांस फ़ोर्स (NDRF) की एक टीम को रायबरेली रवाना किया गया है, जो वहां राहत कार्य का ज़िम्मा संभालेगी. कांग्रेस प्रेजिडेंट सोनिया गांधी ने भी इस घटना को भयावह बताया है और घायलों और मृतकों के परिवार वालों को सहानभूति प्रकट की है. रायबरेली, सोनिया गांधी का लोकसभा क्षेत्र भी है. उन्होंने स्थानीय अधिकारियों को निर्देश दिया है कि वो तत्काल रूप से घटना स्थल पर मेडिकल सुविधाएं पहुंचाए. कांग्रेस वाईस-प्रेजिडेंट राहुल गांधी, गुजरात में अपना चुनाव प्रचार बीच में ही छोड़ कर रायबरेली के लिए रवाना हो गए हैं. वो यहां घायलों और मृतकों के परिवार वालों से मिलेंगे.