सुपरहीरो मूवीज़ में दिलचस्पी रखने वाले लोगों को पता ही होगा कि हाल ही में Marvel कॉमिक्स की फ़िल्म Thor Raganarok रिलीज़ हुई है और इसके कुछ महीनों बाद हॉलीवुड की एक और सुपरहीरो फ़िल्म Justice League रिलीज़ होने वाली है.

Source: uproxx.wordpress

ख़ास बात ये है कि ये फ़िल्में न केवल अमेरिका बल्कि दुनिया भर में अच्छा बिज़नेस करती हैं और यही कारण है कि निर्माता साल दर साल इन फ़िल्मों को रिलीज़ कर इन सुपरहीरोज़ को एक ब्रांड के तौर पर स्थापित कर चुके हैं.

लेकिन सवाल एक बार वही है, आखिर हमारे देश के कॉमिक सुपरहीरोज़ में क्या कमी है? हमारे देसी कॉमिक सुपरस्टार्स पर क्यों अब तक एक भी फ़िल्म नहीं बन पाई है?

नहीं, यहां कृष या रा.वन जैसे फ़िल्मी सुपरहीरोज़ की नहीं, बल्कि नागराज़, सुपरकमांडो ध्रुव और डोगा जैसे कॉमिक किरदारों की हो रही है, वो सुपरहीरोज़ जिन्हें पढ़कर 80 और 90 के दशक की पीढ़ी जवां हुई है, जो इंटरनेट के आने से पहले उत्तर भारत के कई लोगों के बीच Cult हासिल कर चुके थे और जो आज भी एक अदद देसी सुपरहीरो फ़िल्म को देखने के लिए तरस रहे हैं.

अनुराग कश्यप ने फिर भी देसी कॉमिक्स लवर्स को चौंकाते हुए डोगा पर फ़िल्म बनाने का निर्णय लिया था, एक जटिल किरदार और डार्क बैकग्राउंड होने के चलते अनुराग को डोगा काफी पसंद थे और फ़ैंस भी उनसे बैटमैन-जोकर की तर्ज पर डोगा कालपहेलिया के बीच एक साइकोलॉजिकल थ्रिलर की उम्मीद कर रहे थे लेकिन दुर्भाग्य से ये प्रोजेक्ट भी आज धूल फ़ांक रहा है.

इन सबके बीच राज कॉमिक्स ने हाल ही में अपने सबसे लोकप्रिय कॉमिक कैरेक्टर नागराज का एक कॉन्सेप्ट ट्रेलर रिलीज़ किया है.

राज कॉमिक्स ने ईशान एनिमेशन के साथ मिलकर इस ट्रेलर को तैयार किया है. हालांकि, ये अभी साफ़ नहीं है कि नागराज पर एनिमेशन फ़िल्म आने वाली है या कोई टीवी सीरीज़, पर ट्रेलर से साफ़ जाहिर है कि VFX और ट्रीटमेंट पर काफ़ी मेहनत की गई है. हालांकि, इस ट्रेलर में सिनेमाटोग्राफ़ी और बैकग्राउंड म्यूज़िक आपको काफ़ी हद तक क्रिस्टोफ़र नोलन की फ़िल्म द डार्क नाइट की याद दिलाएगा. ट्रेलर में नागराज का शहर महानगर, नागद्वीप, नागसेना और नागराज के क्रूर चाचा नागपाशा की झलकियां मिलती हैं.

इस फ़िल्म मे एनिमेशन देने वाले ईशान शुक्ला BITS पिलानी से ड्रॉप आउट हैं. उनकी पहली शॉर्ट फ़िल्म Schirkoa ऑस्कर 2017 के लिए क्वालीफ़ाई हुई थी.

सवाल फिर यही है कि अगर एक पब्लिकेशन हाउस और एक कॉलेज ड्रॉपआउट और स्वतंत्र एनिमेटर अगर प्रभावशाली VFX के इस्तेमाल से एक जानदार ट्रेलर बना सकता है तो क्या 'रा.वन' और 'फ़्लाइंग जट्ट' में पैसा लगाने वाले प्रोड्यूसर्स और प्रोडक्शन हाउसेस हमारे कॉमिक सुपरहीरोज़ की फ़िल्मों से दूरी क्यों बनाए हुए हैं?

खैर, आप देखिए ये ट्रेलर और उम्मीद कीजिए कि जल्द ही कॉमिक्स के पन्नों से निकलकर हम पर्दे पर अपने फ़ेवरेट सुपरहीरोज़ को देख पाएंगे.