एक डॉक्टर ने गुजरात के एक बच्चे को अजूबा करार दिया है. दरअसल, 30 जून को अहमदाबाद में पैदा हुए इस बच्चे के निचले जबड़े में एक या दो नहीं बल्कि सात दांत मिले हैं. इसे अपनी तरह का पहला मामला बताया जा रहा है.

इस बच्चे का नाम प्रयान है. प्रयान की मां निकिता शर्मा(31) और पिता हरीश शर्मा(31) ने बच्चे के दस दिन के होने पर ही इस बात पर गौर किया. एक स्थानीय सॉफ़्टवेयर कंपनी में काम करने वाले हरीश ने कहा कि 'जैसे ही मेरे बेटे का जन्म हुआ उसे आईसीयू में भर्ती करा दिया गया क्योंकि उसे एक इंफ़ेक्शन हुआ था. लेकिन जब वो वापस आया और मेरी पत्नी ने उसे दूध पिलाने की कोशिश की, तब इन दांतो को देखकर हम बेहद हैरान थे. हमें नहीं मालूम था कि कोई बच्चा एक भी दांत के साथ पैदा हो सकता है. कुछ दिनों में ही ये दांत कमज़ोर भी हो रहे थे, ऐसे में हमने डॉक्टर की मदद लेने का फ़ैसला किया.

अहमदाबाद में डेंटिस्ट मीत रामात्री के मुताबिक, ये बेहद अजीब है कि कोई बच्चा सात दांतों के साथ पैदा हुआ है. उन्होंने कहा कि ये दुर्लभ है और शायद दुनिया का पहला ऐसा मामला भी है.

हालांकि, ये दांत बच्चे को नुकसान पहुंचा सकते थे इसलिए इन्हें निकाल दिया गया. लोकल Anaesthesia देकर इस बच्चे के दांतो को निकाला गया. अभी बेहद छोटे होने के चलते उसे नॉर्मल Anaesthesia से दूर रखा गया था.

इन दांतो को सर्जन ने इसलिए भी निकाल दिया ताकि कहीं वो गिरने पर उन्हें निगल न ले या इनकी वजह से अपने आप को नुकसान न पहुंचा ले.डॉ रामात्री और उनकी टीम ने तीन दिनों में दो ऑपरेशन कर इस बच्चे के दांतो को निकाला. पहली Sitting में चार वहीं दूसरे ऑपरेशन में तीन दांत निकाले गए. उन्होंने कहा कि 'ऐसी रिपोर्ट्स आती रही हैं जब बच्चे का जन्म एक या दो दांत के साथ हुआ हो, लेकिन सात दांतों के साथ पैदा होना अजूबा था.'

ऐसा माना जाता है कि प्रेग्नेंसी के दौरान कुपोषण एक रिस्क फ़ैक्टर हो सकता है, इसके अलावा कुछ जेनेटिक और मेडिकल conditions भी इसके लिए ज़िम्मेदार हो सकती हैं. इन दांतो को ज़्यादातर परिस्थितियों में निकाल दिया जाता है क्योंकि दांत गिरने पर बच्चे के इन्हें निगलने का ख़तरा बना रहता है.

Source: The Sun