कभी-कभी ऐसा लगता है कि इस दुनिया में ऐसी कोई समस्या नहीं है, जिसका समाधान गूगल के पास न हो. चाहे कोई भी सवाल हो, एक गूगल बाबा ही हैं, जिनके पास उसका जवाब होता है. एक बार फिर से गूगल ने इस बार कुछ ऐसा किया है, जिसे सुनकर आप खुशी के मारे फूले नहीं समाएंगे. दरअसल, तस्वीरें यादों को सहेजने का सबसे बेहतर माध्यम होती हैं. जब भी हम अपनी पुरानी तस्वीरों को देखते हैं, तो हम अलग ही दुनिया में चले जाते हैं. यही कारण है कि हम अपने फ़ोटोग्राफ़्स को काफ़ी सावधानी से सहेज कर रखते हैं.

Source: b'Representational Image source: Reuters'

आज भी हमारे बचपन की कई तस्वीरें धूमिल होती जा रही हैं और कई यादें तो हमारी तस्वीरों के खराब होने के साथ ही खत्म हो गई. कारण कि पहले के ज़माने में डिजिटल कैमरे नहीं हुआ करते थे. लेकिन अब घबराने की कोई ज़रूरत नहीं है. क्योंकि अब आप पुरानी फ़ोटोज़ को भी सहेज कर सालों-साल रख सकते हैं.

गूगल ने एक नया ऐप ‘गूगल PhotoScan' शुरू किया है, जो लोगों को कागज़ पर छपी तस्वीर (वास्तविक फ़ोटोग्राफ़) को स्कैन कर उसे डिजिटल स्वरुप में परिवर्तित कर सकता है. PhotoScan ऐप के ज़रिये अब आप पुरानी तस्वीरों को आसानी से डिजिटाइज़ कर सकते हैं.

Source: b'Source: Twitter/@androidcentre'

गूगल PhotoScan क्या है?

इसे प्ले स्टोर से आसानी से फ़ोन में इन्स्टॉल किया जा सकता है. इस ऐप की मदद से पुरानी फ़ोटो और डॉक्युमेंट्स को नई क्वालिटी के साथ स्कैन किया जा सकता है. इससे पुरानी फ़ोटो की क्वालिटी भी डिजिटल हो जाएगी. ये ऐप पुरानी फ़ोटो की हार्ड कॉपी पर बेहतर रिस्पॉन्स करेगा. गूगल का ये पहला फ़ोटो स्कैनर ऐप है.

कैसे करता है काम?

इस एप्लिकेशन का उपयोग काफ़ी आसान है. Google का फ़ोटो स्कैन एप यूज़र फ्रेंडली है. यानि इसे इस्तेमाल करने में किसी भी यूज़र को परेशानी नहीं आएगी. यह फ़ोटोग्राफ़ी सिद्धांत पर काम करता है, जिसमें आसानी से पुरानी फ़ोटो की कॉपी बनाई जाती है. हालांकि, डिजिटली फ़ोटोग्राफ्स को स्कैन करने की तकनीक पहले से ही है, लेकिन गूगल ने इसमें काफ़ी कुछ सुधार के साथ लॉन्च किया है.

Source: entrepreneur

कैसे करें इस्तेमाल?

सबसे पहले प्ले स्टोर पर Google Photo Scan नाम से एप सर्च करके इसे इन्स्टॉल करें. इन्स्टॉल होने के बाद ऐप को ओपन करें. अब इस फ़ोटो या डॉक्युमेंट को स्कैन करना है, उस पर ऐप से फोटो क्लिक करें. ऐप में फ्लैश का ऑप्शन दिया है. ऐसे में कम रौशनी में यूज़र्स इस ऐप से फ्लैश ऑन करके फ़ोटो पर क्लिक करें. यदि रौशनी ठीक है, तो फिर फ्लैश को ऑफ़ कर लें.​ जैसे ही फ़ोटो या डॉक्युमेंट पर क्लिक करेंगे, वो टेम्परेरी सेव हो जाएगा और उसके चारों कोनों पर एक सर्किल आ जाएगा.

यूज़र को इस सर्किल में सेंटर सर्किल को मर्ज करना है. मर्ज करने के बाद फ़ोटो स्कैन करने का प्रॉसेस पूरा हो जाएगा और वो बेस्ट क्वालिटी के साथ फ़ोन में सेव हो जाएगा यूज़र चाहे तो इसे गूगल ड्राइव में सेव कर सकता है.

Source: twitter

बहरहाल, इस एप्लीकेशन के ज़रिये फ़ोटो को एक टच से गूगल फ़ोटोज़ में सेव भी किया जा सकेगा. इसके साथ ही इसमें फ़ोटो को सर्च, शेयर और हाई क्वालिटी की फ़ोटो का एक सुरक्षित बैकअप भी बनाया जा सकेगा. गूगल का यह एप्लीकेशन एंड्राएड, आईओएस और वेब प्लेटफार्म में भी उपलब्ध होगा.

Feature image source: entrepreneur and Reuters