Cyber Stalking, इस पेचीदा किस्से की जानकारी से पहले इस शब्द की गंभीरता को समझ लेते हैं. साइबर स्टॉकिंग का मतलब है इलेक्ट्रॉनिक संचार यानि ईमेल या किसी और सोशल वेबसाईट के ज़रिए किसी पर लगातार नज़र रखना और उसे डराना, धमकाना. आज Facebook, LinkedIn या Google जैसी वेबसाइट और सोशल मीडिया के ज़माने में ​किसी का नंबर, ईमेल या और कोई कॉन्टैक्ट निकालना कोई बड़ी बात नहीं है.

इस सस्पेंस भरे किस्से की शुरुआत हुई थी 26 नवंबर 2015 से. Only Much Louder यानि OML के संस्थापक और CEO विजय नायर को एक ट्वीट में Tag करते हुए लिखा था-

'Yew Vijay Nair biggest sex maniac [sic].'

OML मुम्बई का प्रोडक्शन हाउस है, जिसने देश को NH7 Weekender जैसा म्यूज़िक कॉन्सर्ट, All India Bakchod और East India Company जैसी एंटरटेंमेंट प्रॉपर्टी दी हैं. इतने बड़े व्यक्ति के लिए ये किसी आम ट्वीट की तरह था. विजय ने इसे नज़रअंदाज़ कर दिया.

विजय को अपने ट्वीट्स पर कई लोगों के जवाब और प्रतिक्रिया मिलती थीं. इसमें कई उसके दोस्त या इंडस्ट्री के जाने-पहचाने होते थे. पहले ट्वीट के चार महीने बाद एक अंजान ट्विटर हैंडल से किसी ने ट्वीट किया 'Put news ticker that Vijay Nair f***s every girl through events', इसके बाद दूसरे अंजान ट्विटर हैंडल से लिखा गया 'vijay nair resume only have flirt wid gals sex with gals [sic]'. जब विजय के साथ ये ज़्यादा होने लगा, तो उसने अंजान ट्विटर हैंडल्स को ब्लॉक करना शुरू कर दिया. ये सारे ट्विटर हैंडल्स ‘Ketaki' नाम से मिलते-जुलते ही थे.

विजय के बाद Ketaki हर उस महिला को निशाना बनाने लगी, जो विजय के संपर्क में थी और बात करती थी. एक लड़की जिसने विजय से ​ट्वीटर पर पूछा कि ​वो अपनी नाकामयाबी से कैसे उभरे, वो उसके जवाब में Ketaki ने लिखा कि-

'work hard in bed d*** up [sic]' दूसरे ट्वीट में लिखा था 'is vijay nair small d*** real 2 [sic]?'

ट्वीट्स के बाद ईमेल की शुरुआत

जब विजय ने ट्वीट्स का जवाब देना बंद कर दिया, तो कुछ समय बाद विजय को एक मेल आया.

ईमेल में लिखा था-

Dear Vijay Nair
Sorry 4 wat I have done on twitter in last few days with yew and all known people of yew.my hubby has got to know about it.I have to say sorry now and it will not be repeat again.
Forgive me.Yewr lover forever

ये ईमेल आया था ‘[email protected]' से और ये विजय की जान-पहचान की तीन लड़कियों के पास भी गया था. ये वही लड़कियां थी जिन्हें अंजान ट्विटर हैंडल से अश्लील कमेंट आते थे. थोड़े वक़्त बाद ये ईमेल का किस्सा भी आम हो गया. ऐसे मेल में विजय के जानने वाले 50 से 60 लोग मार्क ही होते थे.

विजय को 30 नवंबर 2015 को एक और ईमेल मिला, जिसमें लिखा था-

'Hello Vijay
I am mail yew again as I did not get response from yew.I whatsap yew also whatsap yewr girlfriend geeta [name changed].yew did not reply geeta did not reply.
I loved yew very very much but now I am sorry for tweet to all yewr friends.my sorry apology

ये ईमेल विजय के कई दोस्तों को ​भी गया था. इसमें गीता (बदला हुआ नाम) का ज़िक्र था, जो ये संकेत दे रहा था कि गीता और विजय के बीच कोई रिश्ता है. ये कोर्इ आश्चर्य की बात विजय के लिए नहीं ​थी क्योंकि इससे पहले विजय का नाम कई महिला दोस्तों से जोड़ा जा चुका है.

7 दिसंबर 2015 के ईमेल में गीता को प्रॉस्टिट्यूट बताया गया. ईमेल में लिखा था-

Hello Vijay, Yew don't respond.so do this.
Girls geeta charge money to sex vijay nair.vijay nair pay geeta 2000 night from two years. Vijay use girl dump them.yew vijay is most selfish man.never think beyond yewrself.yew deserve prostitute like geeta.

विजय, गीता से कुछ महीने पहले मिला था, ये दोनों फ़िल्म के प्रेमियर शो में एक साथ गए थे. उसके अलावा वो कहीं साथ नहीं गए. इस तरह के ईमेल से गीता की छवि पर बुरा असर पड़ रहा था. विजय भी इस बात के लिए शर्मिंदा था, उसने गीता से इस सब के लिए माफ़ी मांगी.

मुम्बई के सुपर कॉप हिमांशु रॉय के पास पहुंची बात

विजय से गीता ने बताया कि महाराष्ट्र के मशहूर एडीजी ​हिमांशू रॉय उसके Cousin हैं और वो उनकी मदद लेगी. गीता ने हिमांशु से बात कर के मामले पर शिकंजा कसवाया.

मामला शिकंजे में आ रहा था

गीता ने उसकी और हिमांशु रॉय की बातचीत का स्क्रीनशॉट विजय को भेजा. उसमें लिखा था कि ये कपल दिल्ली का है और कनाडा के किसी प्रॉक्सी ईमेल सर्वर का इस्तेमाल कर रहा है, जिससे वो पकड़े नहीं जा सकते. मुम्बई पुलिस ने उन्हें धमकी दे दी है और आश्वासन दिया है कि ये दोबारा नहीं होगा.

ये मामला 10 दिसंबर 2015 तक सुलझ गया था, जब विजय के पास एक और ईमेल आया जिसमें लड़की ने विजय ये माफ़ी मांगी थी और दोबारा ऐसा न होने का वादा किया था. उसमें लिखा था-

Geeta,
Yew complain to police.my hubby me get call from police station.I am sorry to yew and vijay. Can't able to whatsapp yew vijay as I am block. This wil never be repeat again ever.sorry for harass and bad word

क्या हो, अगर हम कहें कि अभी इस किस्से की शुरुआत हुई है?

विजय को लगा कि सब मामला सुलझ चुका है, पर इसके बाद भी विजय के पास ट्रेस न होने वाले अमेरिकी नंबर से WhatsApp आते रहे. विजय ये नहीं समझ पा रहा था कि Ketaki उसका नाम गीता से क्यों जोड़ रही है, जिससे वो प्यार भी नहीं करता था. वो उस पुलिस कंप्लेंट को वापस लेने को कह रही थी जो गीता ने औपचारिक रूप से की ही नहीं थी. विजय को अजीबोगरीब संदेश मिलने लग गए. इसमें Ketaki खुद को ज़हर से मारने की बात कह रही थी, विजय को रेप केस में फ़साने की धमकी दे रही थी. ऐसे करीब 300-400 मेसेज रोज़ उसके पास आते ​थे. ऐसा ही गीता के साथ हो रहा था, उसे विजय को छोड़ने की धमकी दी जा रही थी. जब गीता ने Ketaki से कहा कि वो उसे मेसेज करना छोड़ दे, तो उसे धमकी मिली की विजय से दूर रहो वर्ना बहुत बुरा अंजाम देखना पड़ेगा. इस अंजाम में रेप की धमकी भी थी.

13 दिसंबर, रविवार शाम 06:06 बजे फिर आया ईमेल, जिसमें लिखा था कि वो मुम्बई में है और कुछ ही देर में गीता से मिलेगी. धमकी भरे शब्दों में लिखा था कि गीता अगर विजय को उससे दूर करती है, तो उसे बुरा अंजाम देखना पड़ेगा. उसने लिखा कि वो गीता और उसके होने वाले बच्चे को मार देगी और ट्विटर पर लिख देगी की वो गर्भ से है.' ईमेल में ये लिखा था-

I am at mumbai. I will see yew in sometime geeta (name changed).yew cant take my vijay away from me.yew will face for this price.yew are pregnant with vijay baby.I will kill yew and yewr baby.vijay is mine.I will also tell everone on twitter that yew are pregnant

ये ईमेल मिलते ही विजय ने OML के सुरक्षा कर्मियों को गीता के घर भेजा. दूसरी तरफ़ गीता ने सलमान खान से भी मदद मांगी. गीता सलमान को भी जानती थी. सलमान से संदेश में लिखा कि वो शेरा को उसकी सुरक्षा के लिए भेजेंगे और वो टेंशन न ले.

शाम 06:30 बजे आया दूसरा ईमेल, इसमें गीता के लिए लिखा था कि वो नीचे गुलाबी टॉप और काली जैकट पहने खड़ी है. उसके पास ज़हर और बंदूक है, और उसने पुलिस को ख़बर न करने की धमकी दी. ईमेल में लिखा था-

I am in mumbai.I will see yew in some time.will not let yew take away vijay from me
"Geeta I waiting downstairs"
"Plz give back my vijay to me"
"Geeta if yew want yew call vijay also to yew home.don't even try call police.I am carry gun with me.I will kill yew first then kill myself.give vijay to me all this will not happen.I also carry poison with me"
"I know yew touch with vijay.tell vijay to come meet me"
"Meet me vijay.I promise yew I wont tweet wont mail yewr frn wont whatsap yew.yew meet me in puna so nicely.now why do this"
"Yew write song for me twitter.why now ignore.plz meet me.I am wait outside geeta (name changed) house."
"Geeta I am outside yew house door ringing bell knocing door.why yew not opening door.scared? I will not let yew keep vijay"

जब OML के सुरक्षाकर्मी गीता के घर पहुंचे तो उन्हें बताई गई ​हुलिए वाली लड़की नहीं दिखी. सिक्योरिटी ने रात दो बजे तक इंतज़ार किया, फिर वहां से वापस आने का तय किया. जैसे ही सिक्योरिटी वापस जाने के लिए निकली, विजय के पास एक और मेसेज आया. जिसमें लिखा था कि वो उसके घर दिन रात आएगी जब तक वो उससे मिल नहीं लेता.

I wil keep come to yewr house every day night til yew meet me. I leave slip for yew. vijay is mine. give him back to me. I am not leave mumbai til I meet yew

सिक्योरिटी के कुछ दूर जाते ही गीता ने विजय से बताया कि उसके गेट के पास उसे एक स्लिप मिली है, जिस पर लिखा था 'MEET ME'.

सिक्योरिटी को जैसे ही ये पता चला, वो गीता के घर वापस गई. उन्होंने देखा कि गीता डरी हुई है, कंपकंपा रही है. उन्होंने उसके घर के चारों तरफ़ देख लिया, पर कोई नहीं दिखा. दूसरी तरह विजय परेशान था कि उसकी वजह से किसी लड़की के ​साथ ये सब हो रहा है.

इतने में विजय के पास उसके सिक्योरिटी के एक अधिकारी का फ़ोन आता है. उसने विजय से पूछा, क्या आपको लगता है कि गीता जो कर रही है, सही कर रही है. विजय ने आश्चर्य से पूछा कि वो कहना क्या चाहता है.

यहां से आया कहानी में ट्विस्ट

उस सुरक्षाकर्मी ने विजय को बताया कि उसने गीता के दरवाज़े के नीचे से स्लिप डालने की कोशिश की, पर ऐसा होना नामुमकिन है. उस दरवाज़े में ​इतनी जगह नहीं है कि वो हो सके. उसने बार-बार कोशिश की पर ऐसा हो नहीं पाया. सुरक्षाकर्मी ने गौर किया कि वो इंक ताज़ी थी. सबूत के तौर पर उसने विजय को स्लिप खिसकाने की वीडियो भी भेजी. सुरक्षाकर्मी ने गीता को कुछ पता लगने नहीं दिया, वो बातों बातों में उससे सवाल पूछने लगा.

विजय इस गुत्थी को समझने में लग गया

दूसरी तरफ़ विजय इस केस की शुरुआत में चला गया. उसने उसकी और गीता की मुलाकात पर गौर किया, ट्वीट्स पर ध्यान दिया, उस बातचीत पर गौर किया, जो उनके बीच हुई थी. विजय, हिमांशु रॉय से मिला, जिसे गीता ने बताया था कि वो उसका कज़न है. हिमांशु ने बताया कि वो इस केस के बारे में कुछ नहीं जानता, न ही उसकी कोई कज़न है. इसके बाद सलमान के बॉडीगार्ड शेरा ने भी अपने जवाब में कह दिया कि वो गीता को नहीं जानता.

विजय सब समझ गया, लेकिन वो गीता के अंदाज़ में ही उसे पकड़ना चाहता था. उसने गीता से कहा कि वो पुलिस में शिकायत करना चाहता है और वो उसकी गवाह बन जाए.

18 दिसंबर 2015 को फिर थाने पहुंचे दोनों

विजय ने गीता को एनएम जोशी पुलिस स्टेशन बुलाया, वहां उसने सारी कहानी पुलिस आॅफ़िसर को बताई. साथ ही ये भी बताया कि गीता ने अपने कज़न हिमांशु रॉय से भी मदद मांगी थी. इतने में ​ही आॅफ़िसर ने कहा कि वो हिमांशु को जानते हैं, और उन्होंने हिमांशु को फ़ोन कर दिया. दूसरी तरफ़ से रॉय ने गीता को पहचानने से मना कर दिया.

पुलिस और गीता के सामने पूरी कहानी खुलने लगी. गीता ने मान लिया था कि उसने ही ये पूरा षड्यंत्र रचा था. पुलिस ने पहले सोचा कि गीता के पास अमेरिकी नंबर कैसे आए, लेकिन बाद में उन्होंने जाना कि उसके पास खुद का VPN है यानि Virtual Private Network है. आपकी जानकारी के लिए बता दें​ कि ये नेटवर्क किसी व्यक्ति को नहीं मिलता, बल्कि सिर्फ़ किसी कंपनी को मिलता है.

उसका कोई भी बयान सबूत के तौर पर इस्तेमाल नहीं किया जा सकता था क्योंकि वो निरंतर झूठ बोल रही थी. बाद में उसने TVF के फाउंडर अरुनाभ कुमार को भी इसमें शामिल कर लिया, ये कह कर ये सब उसने कहा है उसे करने के लिए. अरुनाभ ने इस इल्ज़ाम को खारिज कर दिया.

विजय ने तुरंत गीता से दूरी बना ली, जिसके बाद गीता ने फिर खुदकुशी की धमकी दी. उसने लिखा कि वो उसकी गलती नहीं है, लेकिन विजय ने उसके खिलाफ़ मन बना लिया है और ये सोच उसकी खुदकुशी का कारण बन जाएगी. उसने कहा कि वो अपनी जान दे देगी और ये प्रेशर ले नहीं पाएगी.

ईमेल 1- 'Wish you would have understood that it is not my fault but you have made up your mind against me and the thought of it is killing me,'

ईमेल 2- 'i hope you will realize some day that I was most honest till the end. I give up on life as I can't take this pressure anymore,'

इसके तुरंत बाद विजय ने गीता के घर अपनी सिक्योरिटी फिर भेजी कि वो कोई कदम न उठा ले. जब सुरक्षाकर्मी वहां पहुंचे तो उन्होंने देखा कि गीता हाथ में सिगरेट लेकर अपने घर से ऐसे निकल रही है, जैसे उसने कुछ किया ही न हो.

इसके बाद गीता ने राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (एनएचआरसी) में शिकायत दर्ज करा दी​ कि जांच कर रहे अधिकारियों ने उसे मारा है. जांच के बाद उसके आरोप खारिज हो गए और नवंबर 2016 को केस बंद हो गया. गीता ने विजय को परेशान करना बंद नहीं किया, वो उसे और साथ के लोगों को ईमेल और मेसेज भेजती रही.

'only becaus his d*** iz big yew gals don't need 2 hang 2 it [sic]," and "vijay is mine.'

ये केस सिर्फ़ साईबर स्टॉकिंग का नहीं था. गीता ने जब से विजय को देखा था वो उसे अपना मान बैठी थी, शादी के सपने और साथ रहने की बात सोच ली थी. उसे लग रहा था कि वो जो कर रही है, सही कर ​रही है. गीता गंभीर मानसिक बीमारी और Delusions से जूझ रही थी. लेकिन ये उसे सही साबित नहीं करता. इस पूरे मामले में कई लोग मानसिक उतपीड़न के शिकार हुए हैं. एक व्यक्ति की छवि पूरी तरह बर्बाद हो गई.

ये ईमले पिछले साल फरवरी में आने बंद हो गए. उसके बाद विजय ने गीता के बारे में दोबारा नहीं सुना. उसने Huffington Post से बताया कि एक सीख जो मैंने ली, वो कि आज के ज़माने में किसी की निजी जानकारी निकालना कितना आसान है. मेरी निजी ज़िन्दगी बर्बाद हो गई.

One of the lessons I've learnt is how incredibly easy it is to get personal information from the internet," he said, "I went a bit nuts on the privacy part.

विजय इसे मानसिक बीमारी नहीं, बल्कि पूरी तरह क्रिमिनल केस बता रहा है.

पिछले दिनों उसके ट्वीट्स में वो लड़की भी सामने आई, जो गीता की रूममेट थी. हांलाकि उसने गीता की असली पहचान नहीं बताई.

Article Source- Huffpost