हॉलीवुड की फ़िल्मों में अक्सर एलियंस को ख़तरनाक और शक्तिशाली दिखाया जाता रहा है. यही नहीं, रितिक रोशन की फ़िल्म कोई मिल गया में भी एलियन यानि जादू को एक अजीबोगरीब लेकिन सुपरपावर से लैस प्राणी दिखाया गया था, लेकिन एक ताज़ा रिसर्च के मुताबिक, एलियंस कोई बाहरी दुनिया के अजीब प्राणी नहीं, बल्कि काफ़ी हद तक इंसान जैसे ही हो सकते हैं.

इस नई रिसर्च में Evolutionary थ्योरी का इस्तेमाल किया गया है और इस थ्योरी का इस्तेमाल करने के बाद सामने आया है कि एलियन लाइफ़ भी शायद उसी तरह के प्रोसेस और उसी तरह के Mechanisms से होकर गुज़री होगी जिसके चलते पृथ्वी पर ज़िंदगी की उत्पत्ति की शुरूआत हुई थी और शायद यही कारण है कि ये एलियन काफ़ी हद तक हमारी तरह ही दिख सकते हैं.

यूं तो पृथ्वी पर जीवन की उत्पत्ति को लेकर कई थ्योरीज़ और कयास लगते रहे हैं, लेकिन हम इतना दावे से कह सकते हैं कि पृथ्वी पर सबसे पहले पैदा होने वाले प्राणी single cell यानि एककोशकीय प्राणी ही रहे होंगे. कई हज़ारों साल बाद ये प्राणी दूसरे जीवों से मिलने के बाद बहुकोशकीय हुए. Evolutionary थ्योरी और वातावरण में आए ज़बरदस्त बदलावों के चलते कई जीवों का विकास होता चला गया.

इसी तरह के फ़्रेमवर्क को ध्यान में रखते हुए ऑक्सफ़ॉर्ड के वैज्ञानिकों ने एलियन लाइफ़ को लेकर अपनी भविष्यवाणी की है. ज़ाहिर है, इस तरह की कोई भविष्यवाणी नहीं की जा सकती है कि एलियंस के तीन पैर होंगे या उनकी चार आंखें होंगी लेकिन इस रिसर्च से कम से कम ये अंदाज़ा लगाया जा सकता है कि एलियंस बजाए के बेहद अलग होने के साथ पृथ्वी पर मौजूद जीवों की तरह ही फ़ंक्शन करते होंगे.

Source: dnaindia

ऑक्सफॉर्ड डिपार्टमेंट ऑफ़ जूलॉजी के रिसर्चर सैम लेविन का कहना था कि एलियन लाइफ़ को लेकर किसी भी तरह की भविष्यवाणी करना बेहद मुश्किल है. हमारी आकाशगंगा में ही कई ऐसे ग्रह हो सकते हैं जिन पर जीवन की संभावना मौजूद हो, हालांकि ऐसा दावे के साथ नहीं कहा जा सकता कि हम इस ब्रहांड में अकेले हैं या नहीं लेकिन इतना ज़रूर है कि ये एलियंस हमसे बहुत ज़्यादा अलग तो नहीं ही होंगे.

Source: Zmescience