बीते गुरुवार अमेरिका में दुनिया के सबसे बड़े विमान 'The Stratolaunch' को बाहर लाया गया. इस जहाज़ को पहली बार कैलिफ़ोर्निया के मोजावे स्थित हैंगर से बाहर निकाला गया. तीन साल पहले इसका काम शुरू हुआ था और अब ये ईंधन और उड़ान की जांच के लिए पूरी तरह तैयार है.

ये एरोप्लेन बहुत विशाल और ताकतवर है. इसकी ख़ासियत है कि ये सैटेलाइट को अंतरिक्ष में लॉन्च करने के लिए बनाया गया है. वर्तमान में जो तकनीक इस्तेमाल की जा रही है उसमें रॉकेट द्वारा ही किसी भी सैटेलाइट को लॉन्च किया जाता है, मगर Stratolaunch पृथ्वी की एकदम निचली कक्षा तक उड़ान भरने में सक्षम है और ये वहां सैटेलाइट को छोड़ कर वापस धरती पर भी आ सकता है. एक्सपर्ट्स का मानना है कि ये तकनीक रॉकेट की तुलना में बहुत सस्ती पड़ेगी. इतना है नहीं आने वाले समय में इससे ही इंसानों को भी अंतरिक्ष में भेजा जा सकता है.

Stratolaunch को दो बिलकुल एक जैसे विमानों को जोड़कर बनाया गया है. इसमें दो कॉकपीट हैं. इन दो विमानों के बीच में ही सैटेलाइट को अंतरिक्ष में भेजने वाला रॉकेट लगा होगा.

अमेरिकी बिजनसमैन और माइक्रोसॉफ़्ट के Co-Founder Paul Allen ने जब Stratolaunch विमान को दुनिया के सामने पेश किया, तो लोगों ने दांतो तले अंगुली दबा ली. Paul Allen ने इस विमान को बनाने की कल्पना की थी. 2011 में उन्होंने Stratolaunch नाम से एक कंपनी बनाकर काम करना शुरू कर दिया. Stratolaunch के CEO, Jean Floyd के मुताबिक, 2019 तक विमान को लॉन्च कर दिया जाएगा.

इस दुनिया का सबसे बड़ा विमान कहा जा रहा है. इसमें हैं और भी कई खूबियां और खासियतें:

इसके पंख फुटबाल पिच के बराबर हैं. इनकी लम्बाई 385 फुट है. इसमें बोइंग 747 वाले 6 इंजन लगे हुये हैं. इसकी ऊंचाई 50 फीट है और इसमें 28 पहिये लगाए गए हैं.

Stratolaunch एक बार में 226,796 किलोग्राम (यह 5 लाख पाउंड) वज़न ढोने में सक्षम. विमान को बनाने के प्रोजेक्ट की शुरूआती लागत 300 मिलियन डॉलर थी.

इतना ही नहीं ये इतना बड़ा है कि इसे बनाने के लिए अमेरिकी गवर्नमेंट ने स्पेशल परमिट जारी किया था.

अमेरिकी प्राइवेट स्पेस फ्लाइट कंपनी Orbital Atk ने Paul Allen की कंपनी के साथ Pegasus Xl रॉकेट को लॉन्च करने के लिए पार्टनर्शिप किया है. Pegasus Xl रॉकेट के जरिए स्पेस में छोटे सैटेलाइट भेजे जाते हैं.

यहां देखिये इसकी पहली झलक का वीडियो:

Video Source: SciNews

Source: thesun