लम्बे समय तक कैंसर से लड़ने के बाद आख़िरकार बॉलीवुड अभिनेता विनोद खन्ना ज़िंदगी की जंग हार गए. उनके देहांत से सारा बॉलीवुड स्तब्ध था, तो उनके जन्म स्थान पाकिस्तान के पेशावर में भी लोगों ने अपने इस लाल को याद किया.

पाकिस्तान के जाने-माने इतिहासकार मुहम्मद इब्राहिम जिया का कहना है कि 'विनोद खन्ना 6 अक्टूबर, 1946 को पेशावर के छावनी क्षेत्र के सरदार इलाके में पैदा हुए थे. उनके पिता मेहरचंद खन्ना एक जाने-पहचाने कारोबारी और कांग्रेस नेता थे.’

जिया 'पेशावर के फ़नकार' के नाम से एक किताब भी लिख चुके हैं, जिसमें पेशावर से जुड़ी हस्तियों के बारे में जानकारी है.

Source: b'Image Source: Pinterest'

2014 में अपनी भारत यात्रा के दौरान जिया विनोद खन्ना और दिलीप कुमार से मुलाकात कर चुके हैं. दिलीप साहब भी पाकिस्तान के पेशावर में ही पैदा हुए थे. विनोद खन्ना के बारे में जिया कहते हैं कि 'जब विनोद खन्ना को ये मालूम हुआ कि मैं पेशावर से हूं, तो बहुत खुश हुए कि कोई उनके यहां से उनसे मिलने आया है.'

Source: b'Image Source: PTI'

बंटवारे के बाद विनोद खन्ना का परिवार हिंदुस्तान आ गया था. दुबई में एक समारोह के दौरान विनोद खन्ना ने गर्व से कहा था कि वो पेशावर से हैं. पेशावर में विनोद खन्ना का पुश्तैनी मकान All Pakistan Womens' Association द्वारा इस्तेमाल किया जाता है. अपने पेशावरी लाल की याद में Cultural Heritage Council एक समारोह का आयोजन किया जायेगा, जिसमें उन्हें सम्मानित किया जायेगा.