शरीर को स्वस्थ और फिट रखने के लिए लोग सालों से योग और व्यायाम करते आ रहे हैं. आज अधिकतर लोग Gym में घंटों पसीना बहाते हैं, ताकि वे अपने बढ़ते पेट को कम कर सकें या फिर खुद को सलमान, जॉन अब्राहम और टाइगर श्रॉफ जैसा बना सकें. खैर, अगर मैं आपसे कहूं कि 1865 में भी लोग Gym करते थे, वो भी मशीनों से जैसे आज आप करते हैं तो, शायद ही आप इस बात पर विश्वास करें. क्योंकि वो समाज इतना परिपक्व नहीं था कि उस दौर में Gym जैसी आधुनिक चीज़ के चलन का विकास हो सकता था. हालांकि एक स्वीडिश डॉक्टर ने इस आधुनिक चलन को उसी दौर में शुरू कर दिया था. इस शख़्स का नाम Jonas Gustav Vilhelm Zander था. इन्होंने मशीनों की मदद से व्यायाम करने के चलन की शुरुआत की और इसका समर्थन भी किया. पर एक बात तो मैं दावे के साथ कह सकता हूं कि उस दौर की मशीनों को देख कर आप हक्के-बक्के तो रह ही जाएंगे. साथ में ये भी सोचेंगे कि आखिर इन मशीनों का इस्तेमाल कैसे किया जाता होगा. क्योंकि इन मशीनों की मदद से व्यायाम करना आज के लोगों के लिए टेढ़ी खीर ही साबित होता. तो देखिए उस दौर की मशीनों को और लगाइये अपना दिमाग कि कौन-सी मशीन से, कौन-सी एक्सरसाइज़ की जाती होगी.

1. इस पर बैठो और पैरों को बनाओ मजबूत.

2. शरीर को लचीला बनाने की एक्सरसाइज़.

3. एब्स बनाने का आसान तरीका.

4. ये किस चीज़ की एक्सरसाइज़ है?

5. बड़े आराम से पेट घटाओ.

6. पैरों को मज़बूत बनाने का सरल उपाय.

7. ये बाइसेप्स की एक्सरसाइज़ है क्या?

8. ये तो घोड़े पर बैठने वाली एक्सरसाइज़ है.

9. लगता है ये मशीन शोल्डर के लिए है.

10. कुछ समझ नहीं आया.

11. इस एक्सरसाइज़ से हाथों को मज़बूत बनाया जाता होगा.

12. अब ये क्या है?

13. ये डांस और योग का मिश्रण लग रहा है.

14. ये मशीन तो ख़तरनाक लग रही है.

15. अब ये क्या है, आपको कुछ समझ आया क्या?

Source: La Boite Verte