पश्चिमी इंग्लैंड में सोमवार की शाम एक अद्भुत नज़ारा देखने को मिला. ब्रिस्टल, टॉन्टन और येल में एक "गुलाबी इंद्रधनुष" देखा गया. इस घटना को विशेषज्ञों ने 'ऑप्टिकल भ्रम' बताया है.

बीबीसी में तापमान कवर करने वाले साइमन किंग ने बताया कि 'इस तरह की घटना का कोई नाम नहीं है. ये दरअसल एक सामान्य इंद्रधनुष और गुलाबी सूर्यास्त एक साथ होने के कारण होता है. सूरज की दिशा में तब्दीली के चलते हमें ये गुलाबी इंद्रधनुष देखने को मिला है'

उन्होंने कहा, 'हमें एक सामान्य इंद्रधनुष दिखाई दिया, जो हवा में मौजूद पानी की बूंदों के कारण सूर्य की किरणों के रंगों के विभिन्न स्पेक्ट्रम में दिखाई देता है. जब सूरज कम ऊंचाईयों पर होता है तो प्रकाश को ज़्यादा atmosphere से गुज़रना पड़ता है, इस वजह से नीला प्रकाश बिखरता चला जाता है और सिर्फ़ लाल रंग रह जाता है जो उसके बाद इंद्रधनुष बनाने की प्रक्रिया में शामिल हो जाता है.'

इंद्रधनुष के लिए कई चीज़ों की ज़रुरत होती है. मसलन, बारिश लेकिन बारिश के साथ ही सूरज का भी एक सही एंगल पर होना ज़रुरी होता है. एक लाल इंद्रधनुष के लिए तो ये प्रक्रिया और मुश्किल हो जाती है. अगर सूरज थोड़ी ऊंचाई पर हो तो इंद्रधनुष सामान्य होता है लेकिन सूरज के कम ऊंचाई पर होने इंद्रधनुष बनने की संभावना भी खत्म हो सकती है.

सदियों पहले इस तरह की घटनाओं को लोग कुदरत का करिश्मा मान कर भूल जाते थे, लेकिन आज विज्ञान में हुई तरक्की के चलते हम ब्रह्मांड की कई खूबसूरत घटनाओं को न केवल देख सकते हैं, बल्कि इन घटनाओं के कारणों से भी अंजान नहीं है.

Source: BBC