जैसे-जैसे हम विकास की दौड़ में आगे बढ़ रहे हैं, हमारे अंदर धैर्य की कमी होती जा रही है. धैर्य की इसी कमी की वजह से कभी रोडरेज जैसी घटनाएं होती हैं, तो कभी गुस्से में हाथापाई जैसी नौबत आ जाती है.

हाल ही में दिल्ली के जहांगीर पुरी इलाके में एक गर्भवती महिला को उसके पति ने सिर्फ़ इसलिए जान से मार दिया, क्योंकि महिला गोल रोटी नहीं बना पाती थी. मामला शनिवार रात का है, पर प्रकाश में रविवार की सुबह उस वक़्त आया, जब पीड़िता के भाई ने सुबह पुलिस को कॉल की.

उसने पुलिस को बताया कि उसकी बहन और उसकी चार साल की बच्ची कमरे में बंद थी और बच्ची के रोने की लगातार आवाज़ आ रही थी. पुलिस ने जब दरवाज़ा खोला, तो महिला बेहोश हालत में मिली, जिसे डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया. बच्ची का कहना है कि 'मां अच्छा खाना बनाती थी, पर मेरे पापा हमेशा रोटियों को ले कर गुस्सा करते थे.'

टाइम्स ऑफ़ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक, मृतिका का नाम सिमरन है और शादी से पहले वो पति के साथ एक साल Live-In में भी रह चुकी थी. शनिवार रात 10:30 बजे के करीब दोनों की लड़ाई हुई और पति ने सिमरन के पेट पर घूंसा मारा. बाद में उसने पत्नी और बेटी को कमरे में बंद कर दिया.

Feature Image Source: dawn

Source: indiatimes