गुरमीत राम रहीम सिंह इंसान को सज़ा मिलने के बाद से ही बलात्कारी बाबा से जुड़े कई खुलासे हो रहे हैं. एक नई रिपोर्ट के मुताबिक राम रहीम केवल साध्वियों का ही नहीं, बल्कि स्कूली बच्चियों का भी शारीरिक शोषण करता था. गौरतलब है कि डॉक्टर्स पहले ही कह चुके हैं कि राम रहीम एक सेक्स एडिक्ट है और यही कारण है कि वो जेल में सहज तरीके से नहीं रह पा रहा है. कुछ दिनों पहले ही एक साध्वी ने ये खुलासा भी किया था कि डेरा सच्चा सौदा में रहने वाली साध्वियां पीरियड्स के बारे में झूठ बोलकर राम रहीम से बचने की कोशिशें करती थी.

हालिया खुलासे में ये भी सामने आया कि डेरा में कुछ लड़कियों को शाही बेटियां कहा जाता था. इन लड़कियों का इस स्तर पर ब्रेन वॉश कर दिया जाता था कि ये शाही बेटियां गुरमीत सिंह के लिए रोज़ रात को नई लड़कियां लाने का काम करती थीं. साध्वी ने बताया कि डेरे में जो भी नई लड़कियां आती, उन पर ख़ास नज़रें रखी जाती. जो लड़कियां दिखने में आकर्षक नहीं होती उन्हें साफ़-सफ़ाई और खाना बनाने के काम पर रखा जाता. वहीं खूबसूरत लड़कियों को पढ़ाई के लिए स्कूल भेज दिया जाता. कैंपस में ही इन लड़कियों को हॉस्टल में रहना पड़ता.

Source: IndiaToday

लड़कियों के इस हॉस्टल की लोकेशन ऐसे डिज़ाइन की गई थी कि राम रहीम की गुफ़ा का दरवाज़ा हॉस्टल के पास ही खुलता था और वो आसानी से इस हॉस्टल में जा सकता था. साध्वी ने ये भी बताया कि इन लड़कियों के ब्रेनवॉश की कोशिशें होती थी ताकि ये लड़कियां, राम रहीम के साथ शारीरिक संबंध बना सकें और जो भी लड़कियां इसका विरोध करती, उन्हें भयानक टॉर्चर किया जाता.

साध्वी ने ये भी कहा कि अगर कोई लड़की अपने साथ हुए शारीरिक शोषण पर मुंह खोलती तो उसे सबक सिखाने के लिए भूखा रखा जाता, इसके बाद भी अगर कोई लड़की हिम्मत कर विरोध करती, तो उसे मारा जाता, टॉर्चर किया जाता और परिवार को मारने की धमकी दी जाती.

राम रहीम पर शिकंजा कसने के बाद कई लोग अपने साथ हुई भयानक आपबीती को सामने लेकर आ रहे हैं. चूंकि मामला सेक्स एडिक्शन से जुड़ा हुआ है ऐसे में हमारे समाज का एक वर्ग इस मुद्दे को बेवजह Sensationalise करने में लगा है, लेकिन इस केस को संवेदनशीलता से डील किया जाना चाहिए ताकि बाकी पीड़ित भी बिना डरे सच्चाई को सामने ला सकें.

Source: RVCJ