दबंगई और गुंडागर्दी का प्रतीक बन चुके उत्तर प्रदेश को योगी आदित्यनाथ के मुख्यमंत्री बनने के बाद उम्मीद की किरण नज़र आ रही थी, पर हाल ही में जालौन-औरैय्या हाईवे पर हुई घटना ने एक बार फिर उत्तर प्रदेश में सुरक्षा व्यवस्था पर सवालिया निशान लगा दिया है.

पुलिस की मानें, तो गुरुवार रात एक दंपति जयपुर से ट्रेन के ज़रिये औरैया आया. जहां से अपने घर की तरफ लौटने के लिए वो दोनों पति-पत्नी स्थानीय ट्रांसपोर्ट का इंतज़ार करने लगे. इस बीच एक ट्रक ड्राइवर ने उन्हें लिफ़्ट की पेशकश की. हाईवे पर कुछ कदम चलते ही ट्रक एक ठेके के पास रुका, जहां ट्रक में 7-8 बदमाश सवार हुए. इन बदमाशों ने पति को बांध कर उसकी पत्नी के साथ सामूहिक बलात्कार की घटना को अंजाम दिया.

इसके बाद बदमाशों ने दंपति के साथ लूटपाट कर उन्हें हाईवे पर छोड़ दिया और फ़रार हो गए. सुबह 3 बजे के करीब दोनों किसी तरह पुलिस स्टेशन पहुंचे, जहां महिला को मेडिकल जांच के लिए भेजने के साथ ही अज्ञात बदमाशों के ख़िलाफ़ FIR दर्ज कर ली गई है.

Source: indiatimes