गुरमीत राम रहीम को दो महिलाओं से रेप के आरोप में कोर्ट ने सज़ा सुना दी है और अगले कुछ साल वो जेल में ही अपना डेरा जमा कर रखेगा, लेकिन क्या आप जानते हैं कि अगर राम रहीम को सज़ा नहीं होती तो उसका महत्वाकांक्षी फ़िल्म प्लान क्या था ?

5 वाहियात फ़िल्में बनाने के बाद ये बलात्कारी बाबा, बंगाली फ़िल्म इंडस्ट्री में कदम रखना चाहता था और इसके लिए वो नेताजी सुभाष चंद्र बोस पर फ़िल्म बनाना चाहता था. वो बंगाली फ़िल्म इंड्रस्टी की एक मशहूर अदाकारा को भी अपनी फ़िल्म में लीड हीरोईन बनाने की तैयारी कर रहा था.

Source: DNA

जी हां, एक रिपोर्ट के मुताबिक, गुरमीत राम रहीम इंसान इस फ़िल्म में नेताजी सुभाष चंद्र बोस का रोल करना चाहता था. इसके लिए उसने नवंबर में नेताजी के परिवार वालों के साथ एक मीटिंग भी फिक्स की थी. माना जा रहा है कि ये मीटिंग कोलकाता में होने वाली थी.

रिपोर्ट के मुताबिक, गुरमीत राम रहीम दावा करता था कि वो आजादी की लड़ाई में नेताजी बोस के योगदान से बेहद प्रभावित था. इसलिए वो नेताजी पर एक ऐसी फ़िल्म बनाने की तैयारी में था जिससे उनकी ज़िंदगी और मौत से जुड़े कुछ रहस्यों पर से पर्दा उठाया जा सके. हालांकि वो जिस तरीके का कटेंट फ़िल्म में इस्तेमाल करने की तैयारी कर रहा था, उसे यकीन था कि इस महत्वाकांक्षी फ़िल्म को सेंसर बोर्ड से पास होने में कुछ दिक्कतें ज़रूर आएंगी. वो टॉलीवुड के कुछ एक्टर्स को भी इस फ़िल्म में लेना चाहता था और इसके लिए फ़ाइनल लिस्ट पर काम कर रहा था.

Source: abplive

ज़ाहिर है, नेताजी का परिवार इस ख़बर को सुनकर बिल्कुल खुश नहीं था. नेताजी के भतीजे चंद्र कुमार बोस के मुताबिक, ये कौन सा समय आ गया है जब एक रेपिस्ट नेताजी पर फ़िल्म बनाने की तैयारियों में था? उस पर लोगों का मर्डर करने का भी इल्जाम है. मैं कभी नहीं चाहूंगा कि कोई अपराधी नेताजी पर फ़िल्म बनाए. सरकार को इस मामले में उन सभी लोगों के खिलाफ़ एक्शन लेना चाहिए जो नेताजी का नाम इस्तेमाल करतें हैं, इतिहास के साथ छेड़छाड़ करते हैं, फ़िल्में बनाते हैं और पैसे बना जाते हैं.

गौरतलब है कि फ़िल्म के प्रोडक्शन हाउस 'हकीकत एंटरटेनमेंट प्राइवेट लिमिटेड' से बात करने की कोशिश भी की गई लेकिन इस मुद्दे पर कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली है.