टीम इंडिया ने शानदार प्रदर्शन करते हुए 4 टेस्ट मैचों की सीरीज़ के पहले टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया को 31 रनों से हराकर 1-0 की बढ़त हासिल कर ली है. इस कड़े मुक़ाबले में भारतीय गेंदबाज़ों ने आख़िरी दिन ऑस्ट्रेलिया के 6 विकेट झटक कर जीत अपने नाम की. दोनों पारियों में शानदार प्रदर्शन के लिए चितेश्वर पुजारा 'मैन ऑफ़ द मैच' बने.

Source: mensxp.com

इस यादगार जीत के साथ ही टीम इंडिया के विकेट कीपर ऋषभ पंत ने एक ऐसा रिकॉर्ड बनाया है, जो आज तक कोई भी भारतीय कीपर नहीं बना पाया था. दरअसल, ऋषभ ने दोनों पारियों में कुल 11 कैच लेकर वर्ल्ड रिकॉर्ड की बराबरी कर ली है. वर्ल्ड रिकॉर्ड की बराबरी करने के बावजूद विकेट के पीछे उनके ख़राब बर्ताव को लेकर ऋषभ की काफ़ी आलोचना हो रही है.

Source: dnaindia.com

दरअसल, पंत ने ऑस्ट्रेलिया की दूसरी पारी के दौरान पैट कमिंस और ऑस्ट्रेलियाई कप्तान टिम पेन पर काफी स्लेजिंग की थी. इसी को लेकर उनकी काफ़ी आलोचना हो रही है. अगर आपने भी मैच देखा हो, तो उस दौरान पंत ने अपनी बकर-बकर से ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों को प्रेशर में ला दिया था. ख़ासकर आश्विन की गेंदबाज़ी के दौरान पंत विकेट के पीछे से लगातार ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों पर स्लेजिंग करते नज़र आ रहे थे.

विकेट के पीछे कुछ यूं था पंत का अंदाज़

कमऑन ऐश... कमऑन ऐश... नॉट ईज़ी... नॉट ईज़ी... कीप बॉलिंग ऑन पैट (पैट कमिंस) पैड्स. नॉट ईज़ी टू सर्वाइव... यहां हर कोई पुजारा नहीं हो सकता. कमऑन पैटी (पैट कमिंस) सिक्सर लगाकर दिखाओ. नॉट पुटिंग अवे... बैड बॉल हेयर...

इसके बाद न सिर्फ़ ऑस्ट्रेलियाई मीडिया, बल्कि भारतीय फ़ैंस ने भी सोशल मीडिया पर पंत की जमकर आलोचना की.

ऑस्ट्रेलियाई ब्रॉडकॉटर 'फ़ॉक्स नेटवर्क' ने तो अपने ट्वीट में यहां तक कह दिया कि ऋषभ पंत विकेट कीपिंग नहीं, बल्कि कमेंट्री कर रहे हैं.

कमेंट्री के दौरान टीम इंडिया के पूर्व कप्तान सुनील गावस्कर और हर्षा भोगले ने भी ऋषभ के इस बर्ताव को लेकर उनकी आलोचना की.

क्या बोले ऋषभ पंत?

Source: hindustantimes

तमाम आलोचनाओं के बाद ऋषभ पंत ने मजाकिया अंदाज़ में ऑस्ट्रेलियाई मीडिया को जवाब देते हुए कहा कि 'दरअसल, मैं ये चाहता हूं कि बॉलर्स नहीं, बल्लेबाज़ मुझ पर ज़्यादा ध्यान दें. ऑस्ट्रेलिया में ये भारत की छठी जीत है और मेरा भी छठवां टेस्ट है.

Source: ndtv.com