दिल्ली में MCD चुनावों का दौर चल रहा है. हर पार्टी वोटर्स को लुभाने के लिए तरह-तरह के वादे कर रही है. कहीं जुमले गढ़े जा रहे हैं, तो कहीं दूसरी पार्टी के उम्मीदवारों को निशाना बनाया. इस बीच कुछ ऐसे भी उम्मीदवार हैं, जो अपने विकास को वोटर्स तक पहुंचाने की कोशिश कर रहे हैं और उम्मीद कर रहे हैं कि जीत उनकी ही होगी.

खैर, विकास की इसी कड़ी में एक ऐसी भी सड़क है, जो प्रशासन और अधिकारीयों की नज़र में तो बन गई, पर असल में कहीं खो गई. इस बाबत लोगों ने पुलिस में सड़क की गुमशुदगी की रिपोर्ट भी लिखवाई है. ख़बरों के अनुसार, दिल्ली के कालका जी में DDA एनआरआई कॉम्पलेक्स और दूसरी कॉलोनियों के बीच एक मॉल बनाना चाहता है, जिसके बाद ट्रैफिक की समस्या उतनी लाज़मी थी.

इसी समस्या को ध्यान में रखते हुए एक स्थानीय विवेक शर्मा ने कोर्ट में अपील की, जिसके बाद DDA ने कोर्ट में इस प्रोजेक्ट का नक्शा जमा किया. इस नक़्शे में क्षेत्र को ट्रैफ़िक की समस्या से बचाने के लिए एक सड़क दिखाई गई थी, जो सूर्यसेन रोड को सुदर्शन मुंजाल रोड से जोड़ने का काम करने वाली थी.

अब जबकि DDA इस प्रोजेक्ट को ज़मीन पर उतरने की तैयारी कर रहा है और अधिकारी इलाके का दौरा कर रहे हैं, तो इस सड़क का नाम-ओ-निशान लोगों को नहीं दिखाई दे रहा. विवेक का कहना है कि 'हम लोगों ने अधिकारीयों से गुज़ारिश की थी कि आप जब भी दौरा करने जाए, तो हमें भी बता दें, जिससे हम भी सड़क को पहचान पाएं.'

अधिकारी, लोगों की इस गुज़ारिश पर भी ख़ामोश हैं, जिसके बाद स्थानीय निवासियों ने सड़क का पता ढूंढ़ने के लिए पुलिस में FIR करवाई और पोस्टर लगाए कि जो भी इस सड़क को ढूंढ़ कर लाएगा, उसे 10,000 रुपये इनाम में दिए जायेंगे.

Source: firstpost