14 अगस्त पाकिस्तान के लिए जबकि 15 अगस्त हिंदुस्तान के लिए ऐसी तारीख़ है, जब दोनों देशों के लोग सारे साल लड़ने के बाद अपने-अपने यहां आज़ादी का जश्न मना रहे होते हैं. आज़ादी के दोनों देश अलग तो हो गए, पर हमारे कल्चर के साथ-साथ हमारी दिक्कतें भी एक रहीं. बेशक हम एक-दूसरे को नीचे दिखाने की तमाम कोशिश करते हों, पर असलियत ये है कि दोनों मुल्क लगभग एक-सी दिक्क्तों का सामना कर रहे हैं. इनमें गरीबी, भुखमरी से ले कर बेरोजगारी जैसी कई समस्याएं शामिल हैं.

ऐसी ही एक दिक्क्त से निपटने के दोनों देश के कुछ युवा एक हुए हैं और मिल कर इसके ख़िलाफ़ लड़ रहे हैं. ख़बरों के मुताबिक, आज़ादी के 70 साल होने के मौके पर Robin Hood Army (RHA) नाम के संगठन ने #Mission1Million नाम का एक कैम्पेन लॉन्च किया है. इस कैम्पेन से सिविल सोसाइटी और प्राइवेट सेक्टर के कुछ लोग जुड़े हैं, जिसका मकसद दोनों देशों में 14 और 15 अगस्त के मौके पर 1 मिलियन लोगों को खाना खिलाना है.

RHA कैम्पेन की शुरुआत करने वाली 27 वर्षीय आरुषि बत्रा का कहना है कि 'दोनों देशों में लाखों ऐसे लोग हैं, जो आज भी रात को भूखे पेट सोते हैं. एक युवा के तौर पर ये हमारा फर्ज़ है कि एक-दूसरे पर आरोप लगाने के बजाय हम ऐसे लोगों के लिए आगे आये.' ये लोग अनाथालय, वृद्धाश्रम और सड़क पर रह रहे लोगों के बीच जा कर उनकी भूख मिटाने की कोशिश कर रहे हैं.

Xiaomi इस कैंपेन का नेशनल पार्टनर है, जिसने 500000 लोगों के लिए खाना उपलब्ध कराया है. Xiaomi India के वाईस प्रेजिडेंट और मैनेजिंग डायरेक्टर मनु जैन का कहना है कि "हम अपनी सफ़लता को पूर्ण रूप से प्यार के साथ अपने देश को समर्पित करते है. Robin Hood Army के ज़रिये हमें ये मौका मिला है कि हम थोड़ा दूसरों के लिए भी सोचें.'

ये कैम्पेन 3 चरणों में पूरा होगा. पहले चरण में दोनों देश के 10,000 युवा एक साथ सामने आएंगे और इस कैम्पेन को सोशल मीडिया पर लोगों के बीच पहुंचायेंगे, जिससे दोनों तरफ़ मोहब्बत के पैगाम को फैलाया जा सके.

चलो इतने साल बाद ही सही, कोई तो ऐसा आया, जिसने इंसानियत के लिए सोचा. आप भी इस मुहीम से जुड़कर मोहब्बत की खुशबू को आपस में बांट सकते हैं. इसके लिए आपको Robin Hood Army के फ़ेसबुक पेज पर जाना है और सरहद पार प्यार भेजना है.

Source: Scoopwhoop

Feature Image Source: newint